सतना पुलिस ने पकड़े 2 अंतरप्रांतीय चंदन चोर: दिन में व्यापारी बन कर करते थे रेकी, रात में गायब कर देते थे पेड़, लकड़ी और कार जब्त, 2 फरार

Hindi NewsLocalMpSatnaUsed To Be A Trader During The Day, Used To Make Reiki Disappear In The Night, Confiscated Trees, Wood And Car, 2 Absconded

सतना39 मिनट पहले

कॉपी लिंक

सतना पुलिस में चंदन चोरी करने वाले अंतरप्रांतीय गैंग के दो मेंबर को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इनके कब्जे से बोरियों में भरी चंदन की लकड़ी और एक आई 20 कार जब्त की गई है। इस मामले में दो आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। हालांकि उनकी भी तलाश शुरू कर दी गई है।

जानकारी के मुताबिक कोठी थाना पुलिस ने अंतरप्रांतीय चंदन चोर गिरोह के दो सदस्यों को बंदी बना लिया है। पकड़े गए चंदन चोरों में रामकिंकर गर्ग पिता सुदर्शन गर्ग 53 वर्ष निवासी नारायणपुर थाना सिंहपुर सतना तथा सनत कुमार पांडेय पिता गिरधारीलाल पांडेय 60 वर्ष निवासी निपनिया थाना सिंहपुर सतना शामिल हैं। ये दोनों ही यूपी के चंदन चोर गिरोह से जुड़े हुए थे।

यूपी में चंदन की चोरी और चोरी के चंदन की खपत कराने वाले कन्नौज निवासी नूर आलम पिता अशरफ आलम और गिरिराज सिंह पिता गुलाब सिंह से इनके कनेक्शन थे। ये चारों मिलकर चंदन के व्यापारी बन कर जगह-जगह घूमते थे। दिन के उजाले में सौदागर बन कर ये चंदन का पेड़ देखने और सौदा करने जाते थे और फिर रात में चोरी से पूरा पेड़ ही गायब कर देते थे।

कोठी थाना क्षेत्र के ग्राम बड़ौर निवासी मनीष सिंह पिता मनोज सिंह के घर पर लगे चंदन के दो पेड़ 5 और 6 सितंबर की दरमियानी रात चोरी हो गए थे। मनीष ने घटना की रिपोर्ट कोठी थाना में दर्ज कराई थी। उन्होंने पुलिस को बताया था कि 5 सितंबर की रात 11 बजकर 50 मिनट पर जब वे सोने गए थे, तब तक दोनों पेड़ सही सलामत थे। लेकिन जब सुबह उठे तो पेड़ गायब थे। उन्हें कोई कटर से काट कर चुरा ले गया था।

मनीष के पास भी चोरों का यह गिरोह सौदा करने गया था, लिहाजा मनीष ने इसकी भी जानकारी कोठी पुलिस को दी। सन्देह के आधार पर पुलिस ने रामकिंकर और सनत को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जिसमें पूरी कहानी सामने आ गई। इस गैंग ने रामपुर समेत कई अन्य स्थानों से चोरी की बात भी कबूली है।

थाना प्रभारी भूपेंद्र मणि पांडेय ने बताया कि आरोपियों ने लकड़ी को काट कर बोरियों में भर लिया था। वारदात में उन्होंने आई 20 कार UP32 DJ 7778 का भी इस्तेमाल किया था। आशंका है कि यूपी पासिंग यह कार इस गैंग के दो फरार आरोपियों नूर आलम और गिरिराज सिंह की है। कार और लगभग 2 लाख की चंदन की लकड़ी जब्त कर ली गई है। फरार आरोपियों की भी तलाश की जा रही है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!