भोपाल में इकतारा दस्तक में वक्तव्य और शास्त्रीय गायन: कवि अशोक वाजपेई के वक्तव्य के साथ बाल साहित्य पर राष्ट्रीय संवाद

भोपालएक घंटा पहले

इकतारा दस्तक में जुटे कई साहित्यकार और कलाकार

बाल साहित्य और कला पर केंद्रित आज रविंद्र भवन में कई कार्यक्रम हुए। यह कार्यक्रम एकतारा बाल साहित्य और कला केंद्र के नए भवन के लोकार्पण के मौके पर किए गए।

कार्यक्रम सुबह 11:00 बजे शुरू हुआ जिसकी शुरुआत प्रसिद्ध गायिका चिन्मई त्रिपाठी और श्यामा मुखर्जी के कबीर गायन से हुई।

वहीं शाम को शब्द और चित्र विषय पर कवि और आलोचक अशोक वाजपेई का भी वक्तव्य हुआ।

शाम 6:00 बजे से गायिका कलापिनी कोमकली का शास्त्रीय गायन हुआ। रविवार को भी कई आयोजन हैं जिनमें गायन और कई कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी।

इकतारा तक्षशिला एजुकेशन सोसाइटी एक ऐसी पहल है जो पिछले 5 सालों से बच्चों के लिए कला और साहित्य विकसित करने का काम कर रही है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!