मिशन एडमिशन: एमबीए के रजिस्ट्रेशन कल तक, 16 काे कॉमन मेरिट सूची ताे 21 काे एडमिशन लिस्ट हाेगी जारी

Hindi NewsLocalMpIndoreMBA Registration Till Tomorrow, 16’s Common Merit List And 21’s Admission List Will Be Released

इंदौर22 मिनट पहले

कॉपी लिंक28 तक फीस होगी जमा, ग्रेजुएशन अंकाें के आधार पर प्रवेश लेने वालों को सीएलसी के लिए करना होगा इंतजार। - Dainik Bhaskar

28 तक फीस होगी जमा, ग्रेजुएशन अंकाें के आधार पर प्रवेश लेने वालों को सीएलसी के लिए करना होगा इंतजार।

काेर एमबीए (फुल टाइम) और स्पेशलाइजेशन एमबीए के लिए रजिस्ट्रेशन रविवार काे बंद हाे जाएंगे। कॉमन मेरिट सूची 16 सितंबर काे आएगी। 21 सितंबर काे सीमैट की मेरिट के आधार पर एडमिशन लिस्ट जारी हाेगी। जिन छात्राें काे पसंद का कॉलेज अलॉट हाेगा, उन्हें 28 सितंबर तक संबंधित कॉलेज में फीस जमा करना हाेगी। वैसे जाे छात्र सिर्फ ग्रेजुएशन के अंकाें के आधार पर प्रवेश लेना चाहते हैं, उन्हें इस बार सीएलसी राउंड के लिए लंबा इंतजार करना हाेगा। इन छात्राें के रजिस्ट्रेशन 19 से 21 अक्टूबर के बीच हाेंगे।

दूसरे राउंड के रजिस्ट्रेशन सीमैट आधार पर

दूसरे राउंड के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 24 सितंबर से 1 अक्टूबर तक चलेंगे। कॉमन मेरिट सूची 6 अक्टूबर तक आएगी। 11 काे एडमिशन सूची जारी हाेगी। 18 अक्टूबर तक छात्रों को कॉलेज में फीस जमा करना हाेगी। जहां ज्यादा डिमांड हाेगी, वहां कॉलेज ग्रेजुएशन की मेरिट के आधार पर लिस्ट चस्पा करेंगे। यह राउंड भी सीमैट की मेरिट के आधार पर हाेगा।

52 कॉलेजों में 8100 से ज्यादा सीटें। इसमें डीएवीवी के टीचिंग विभाग आईएमएस और आईआईपीएस भी शामिल4 नए कॉलेज खुले। इनकी 1200 सीटें। 900 सीटें पुराने कॉलेजाें में भी बढ़ी6 नए एमबीए स्पेशलाइजेशन काेर्स जुड़े हैं

सीएलसी राउंड में ग्रेजुएट छात्र सीधे प्रवेश ले सकेंगे

तीसरा राउंड अहम है। इसमें 19 से 21 अक्टूबर तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना हाेगा। इस राउंड में छात्र रजिस्ट्रेशन के बाद सीधे कॉलेज जाकर प्रवेश ले सकेंगे। 22 अक्टूबर तक फीस भरना हाेगी। चाैथा राउंड भी सीएलसी हाेगा।

इसमें 23 से 25 अक्टूबर तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना हाेगा। फिर कॉलेज जाकर एडमिशन लेना हाेगा। जहां ज्यादा डिमांड हाेगी, वहां ग्रेजुएशन की मेरिट के आधार पर लिस्ट चस्पा की जाएगी। 25 की शाम तक फीस जमा करना हाेगी।

ग्रेजुएशन आधार पर एडमिशन लेने वाले ज्यादा

इस बार भी सीमैट की रैंकिंग के बजाय ग्रेजुएशन के अंकाें की मेरिट के आधार पर एडमिशन लेने वाले छात्राें की संख्या ज्यादा है। हालांकि ऐसे छात्राें काे स्कॉलरशिप का फायदा नहीं देने के शासन के निर्णय का विराेध हाे रहा है।

इसका असर कॉलेजाें में एडमिशन की संख्या पर पड़ेगा, क्याेंकि जनरल कैटेगरी के छात्र ताे सीधे प्रवेश लेंगे, वहीं एसटी-एससी के जो छात्र सिर्फ स्कॉलरशिप के भराेसे प्रवेश ले पाते थे। कॉलेज एसो. के अवधेश दवे, कविता कासलीवाल का कहना है 30 वर्ष आय बंधन और सीएलसी राउंड वाले छात्राें काे स्कॉलरशिप

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!