मोदी कूनो में चीते छोडने के बाद फिर आएंगे MP: सीएम शिवराज सिंह बोले- महाकाल कॉरिडोर के उद्घाटन में शामिल होने दोबारा आएंगे प्रधानमंत्री

Hindi NewsLocalMpBhopalCM Shivraj Singh Said – Prime Minister Will Come Again To Attend The Inauguration Of Mahakal Corridor

भोपाल4 घंटे पहले

कॉपी लिंक

श्योपुर के कूनो पालपुर में चीते छोडने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जल्द ही मप्र के दौरे पर दूसरी बार आएंगे। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक निजी न्यूज चैनल के कार्यक्रम में कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में मध्यप्रदेश के मंडला सहित अन्य जिलों में बने अमृत सरोवर निर्माण की तारीफ की है। 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री चीता प्रतिस्थापना के लिए कूनो राष्ट्रीय उद्यान आ रहे हैं। उन्हें पुन: मप्र में आने के लिए आग्रह कर उज्जैन में महाराज महाकाल कॉरिडोर के शुभारंभ के लिए आमंत्रित किया गया है। भारत और एशिया से विलुप्त हो चुके वन्य-प्राणी चीते को पुन: बसाने का कार्य पर्यावरण-संरक्षण की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है।सीएम बोले- मप्र की धरती पर आतंकवार पनपने नहीं देंगेमुख्यमंत्री ने कहा कानून-व्यवस्था की मजबूत स्थिति सबसे बड़ी प्राथमिकता है। किसी भी तरह के आसामाजिक तत्व हों, उनके लिए सरकार सख्ती से कार्यवाही कर रही है। पहले डकैतों के आतंक को समाप्त किया गया, फिर सिमी के नेटवर्क को खत्म किया गया, इसके बाद नक्सलवाद को भी सीमित किया गया। साथ ही गुंडा तत्वों के विरूद्ध सख्त से सख्त कदम उठाए गए हैं। साल 2006 से यह सिलसिला अब तक जारी है। मध्यप्रदेश शांति का टापू है। अपराधियों को संरक्षित करने वालों के विरूद्ध भी सरकार का रवैया सख्त रहेगा। सज्जनों के लिए सरकार फूलों की तरह कोमल और दुष्टों के लिए वज्र से भी कठोर है। सभी धर्मों का पूरा आदर है लेकिन किसी धर्मस्थल या धार्मिक नेता द्वारा इनके दुरूपयोग के लिए उन्हें कामयाब नहीं होने देंगे। आतंक की कोई कोशिश सफल नहीं होने दी जाएगी। मध्य क्षेत्रीय परिषद बैठक के महत्व की चर्चा करते हुए सीएम ने कहा परिषद जन कल्याण का महत्वपूर्ण मंच है। इसमें जिन मुद्दों पर विचार-विमर्श और निर्णय होता है, उससे अनेक जन-समस्याओं के समाधान में सहयोग मिलता है।निवाड़ी के होम स्टे कॉन्सेप्ट का जिक्रमुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में घोर घने जंगल, जल संरचनाएं, ऐतिहासिक महत्व के स्थान पर्यटन विकास में मददगार हैं। धार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। उज्जैन में महाकाल कॉरिडोर के विकास और शिव सृष्टि प्रकल्प को साकार करने का कार्य हो रहा है। प्रदेश में निवाड़ी जिले में पर्यटन विकास के लिए होम स्टे कॉन्सेप्ट लागू किया गया। केन्द्र सरकार ने भी इसकी तारीफ की है। पर्यटकों को ग्राम संस्कृति से परिचित करवाने और वाइल्ड लाइफ टूरिज्म के विकास के कदम उठाए गए हैं।मप्र के बडे़ हिस्से में आई बाढ़, विंध्य में कम वर्षा हुईमुख्यमंत्री ने कहा कि इस मानसून सीजन में विचित्र स्थितियां रही हैं। प्रदेश के बड़े हिस्से में काफी ज्यादा बारिश हुई। कुछ जिलों में बाढ़ तबाही लेकर आई। प्रदेश का अभी एक हिस्सा ऐसा है, जहां बारिश कम हुई है। उत्तरप्रदेश से लगा विंध्य इलाका ऐसा है जहां अल्प वर्षा के कारण दिक्कत हुई है। सीएम ने कहा संकट के ऐसे समय राज्य सरकार जनता के साथ खड़ी है। जब जनता तकलीफ और कष्ट में हो तब सरकार उनको संकट के पार निकाल कर ले जाए, तभी वह सरकार है। अतिवर्षा से हुई क्षति के लिए सरकार सभी प्रभावितों को राहत राशि प्रदान करेगी।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!