कारम डैम से आपदा प्रबंधन सीखेंगे केन्द्र के अफसर: कारम के डिजास्टर मैनेजमेंट पर बनेगी केस स्टोरी, आपदामोचन बलों को पढ़ाई जाएगी

Hindi NewsLocalMpBhopalCase Story Will Be Made On Disaster Management Of Karam, Disaster Response Forces Will Be Taught

भोपालएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

बीते दिनों धार के कारम डैम में अचानक हुए रिसाव के बाद राहत अभियान चलाकर हालातों को काबू करने की केस स्टोरी तैयार की जाएगी। केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन संचालित राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान और केंद्रीय जल आयोग के अधिकारियों के पांच सदस्यीय दल ने भोपाल में सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की। टीम के सदस्यों ने सीएम को बताया कि कारम डेम के आपदा प्रबंधन की केस स्टडी देशभर में अध्ययन का विषय बन रही है। केस स्टडी, राष्ट्रीय स्तर के प्रशासनिक, पुलिस, सेना, एनडीआरएफ और सिविल डिफेंस आदि संस्थानों में अध्ययन के लिये उपलब्ध कराई जायेगी।तीन दिन डैम का किया निरीक्षणअपर मुख्य सचिव (गृह) डॉ. राजेश राजौरा ने मुख्यमंत्री और दल के सदस्यों को बताया कि उन्होंने 9 से 11 सितंबर तक कारम बांध क्षेत्र, धार और खरगोन जिलों के प्रभावित ग्रामों का भ्रमण किया और आपदा से ग्रामवासियों और पशुधन सहित अन्य संपत्तियों की रक्षा की जानकारी हासिल की। बैठक में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान के प्रो. डॉ. सूर्य प्रकाश, अजीत बाथम, हरिहर कुमार और अमृतलाल हलधर और केंद्रीय जल आयोग के शरद चंद्र शामिल थे।

मालूम हो कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्माणाधीन कारम बांध से पानी के रिसाव की जानकारी मिलते ही अगस्त माह में तीन दिन वल्लभ भवन सिचुएशन रूम में दिन-रात लगातार उपस्थित रह कर राष्ट्रीय स्तर के बांध विशेषज्ञों से चर्चा की और सम्पूर्ण स्थिति पर सतत निगाह रखते हुए समुचित तथा ठोस निर्णय लेकर इस प्रकार के आपदा प्रबंधन को अंजाम दिया, जिससे जन-हानि, पशुधन-हानि और संपत्ति-हानि की स्थिति नहीं बन पाई। राज्य सरकार की कार्यवाही को प्रशिक्षण संस्थाओं में अध्ययन में शामिल किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!