बेरोजगार V/S रोजगार: आठ महीने में 14 हजार से ज्यादा ने मांगी नौकरी, मिली सिर्फ 1695 को

ग्वालियर35 मिनट पहलेलेखक: कौशल मुदगल

कॉपी लिंकग्वालियर के रोजगार मेलों की हकीकत। - Dainik Bhaskar

ग्वालियर के रोजगार मेलों की हकीकत।

नौकरी की चाहत में शिक्षित युवा बेरोजगारों की संख्या रोजगार कार्यालय के रजिस्ट्रेशन आंकड़े लगातार बढ़ा रही है। अगस्त अंत तक ग्वालियर के जिला रोजगार कार्यालय में 1 लाख 66 हजार 247 बेरोजगार रजिस्टर्ड हैं। जिनमें से 14 हजार 535 रजिस्ट्रेशन जनवरी से अगस्त तक यानी कि सिर्फ 8 महीने के ही हैं।

हर रोज ये आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है, लेकिन शिक्षित युवाओं को रोजगार मिलने की गति काफी धीमी है। रोजगार कार्यालय ने जो रोजगार मेले आयोजित किए हैं उनमें 8 महीने के दौरान सिर्फ 1695 को ही नौकरी मिल सकी।

अब जिला रोजगार कार्यालय के अधिकारी इस बात पर जोर दे रहे हैं कि विभिन्न विभागों में आउटसोर्स से जो भर्ती की जा रही है, उसके लिए रोजगार कार्यालय से ही बेरोजगारों की लिस्ट ली जाए। उनमें से जितने लोगों को नौकरी मिले, उनकी सूची वापस दी जाए ताकि पता चल सके कि रजिस्टर्ड युवाओं में से कितने लोगों को नौकरी मिल चुकी है।

विभागों को पत्र भेज रहे हैं

रोजगार कार्यालय द्वारा रोजगार मेले आयोजित कर नौकरी दिलाए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। साथ ही विभिन्न विभागों को पत्र भी भेजे जा रहे हैं कि वे आउटसोर्स भर्ती के लिए कार्यालय से सूची लें। ताकि, रजिस्ट्रेशन करा चुके लोगों को रोजगार मिल सके।- पवन कुमार भिमटे, उपसंचालक/ रोजगार कार्यालय

4 महीने में एक को भी नहीं मिली नौकरीजिला रोजगार कार्यालय में दर्ज आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष जनवरी, अप्रैल, मई एवं जून के दौरान एक भी रजिस्टर्ड बेरोजगार को नौकरी नहीं मिली है। जबकि इन 4 महीनों के दौरान 6 हजार 663 युवाओं ने नौकरी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। वहीं अगस्त में सबसे कम सिर्फ 26 लोगों को नौकरी मिल सकी। रोजगार कार्यालय द्वारा अब सितंबर में भी रोजगार मेला लगाने की तैयारी की जा रही है। जिनमें विभिन्न कंपनियां कैंपस लगाएंगी।

पिछले वर्ष हुए थे रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशनपिछले वर्ष जनवरी 2021 से अगस्त 2021 तक के बीच 8 महीने में जिला रोजगार कार्यालय, ग्वालियर में रिकॉर्ड 74,103 बेरोजगारों ने रजिस्ट्रेशन कराया। जिनमें से रोजगार मेलों में सिर्फ 573 युवाओं को ही रोजगार मिला था। अधिकारियों के अनुसार पिछले वर्ष इतनी बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन का कारण पुलिस भर्ती थी। पिछले वर्ष पुलिस भर्ती निकली और अचानक से रजिस्ट्रेशन बढ़ गए थे। इस वर्ष अग्निवीर भर्ती के दौरान रजिस्ट्रेशन नहीं बढ़े।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!