जिला अस्पताल में महिला की मौत: परिजनों का आरोप- स्टाफ ने कहा मरती है तो मरने दो; प्रबंधन ने जांच होने तक दो नर्स को हटाया

मंदसौर37 मिनट पहले

मंदसौर के जिला अस्पताल में महिला की मौत के मामले में परिजनों ने हंगामा किया। परिजनों आरोप लगाते हुए बताया कि तीन दिन पहले नीमच जिले जीरन तहसील के हरवार निवासी नंदुबाई अहिरवार (45) को बुखार और सांस की तकलीफ के चलते को मंदसौर जिला अस्पताल में भर्ती करवाया था।

आज मंगलवार सुबह महिला की तबियत बिगड़ी तो परिजनों ने स्टाफ को सूचना दी। लेकिन स्टाफ की नर्स ने परिजनों से कहा कि ‘वार्ड की सफाई होने के बाद देखेंगे इतने में मरीज महिला मर नहीं जाएगी।’ इसके कुछ देर बाद ही इलाज के अभाव में महिला की मौत हो गई।

परिजनों ने बताया कि उसे सांस लेने में तकलीफ आ रही थी। उसे ऑक्सीजन भी लगा देते तो वह बच जाती। वहीं आसपास के मरीजों ने बताया कि अगर महिला को समय पर उपचार मिल जाता तो महिला की मौत नहीं होती। परिजनों ने कई बार जाकर महिला की बिगड़ती हालात की जानकारी दी थी लेकिन उसे कोई देखने तक नहीं आया।

परिजनों का हंगामा किया चक्काजाम

महिला की मृत्यु होने पर उसके परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा भी किया है। अस्पताल प्रबंधन और स्टाफ पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की। इसके बाद परिजनों ने जिला अस्पताल के बाहर सड़क पर चक्काजाम कर दिया। करीब चार घंटे हंगामे और समझाइश का दौर चलता रहा। इस दौरान महिला का शव वार्ड में ही पड़ा रहा। परिजनों की मांग थी कि जबतक स्टाफ नर्स को निलंबित नहीं किया जाता तब तक शव नहीं उठाएंगे।

वहीं मामले में सीएमएचओ डॉ अनिल नकुम ने बताया कि परिजनों के आरोप पर जांच की जा रही है। जांच आरएमओ डॉ के सी दवे को सौंपी है। वे दो दिन में जांच कर रिपोर्ट सौंपेंगे। जांच पूरी होने तक दोनों स्टाफ नर्स पूजा पाटीदार और पूजा झार्डे को हटाया है।

जिम्मेदार भी मानते जिला अस्पताल के स्टाफ का रवैया ठीक नहीं

ऐसा नहीं है कि जिला अस्पताल में स्टाफ पर दुर्व्यवहार और लापरवाही के आरोप पहली बार लगे है। इससे पहले भी स्टाफ पर उपचार नहीं करने और मरीजों के साथ आए परिजनों के साथ दुर्व्यवहार के आरोप लगते रहे है। पूर्व जिला स्वास्थ्य अधिकारी केएल राठौर ने भी कबूल किया था कि जिला अस्पताल के स्टाफ का व्यवहार अच्छा नहीं है।

पैनल पोस्टमार्टम​ और कार्रवाई के आश्वाशन पर माने

जिला अस्पताल में 4 घंटे चले हंगामे के बाद आखिरकार अधिकारी को समझा इस पर मृतक महिला के परिजन माने और पैनल पोस्टमार्टम करवाने और निष्पक्ष जांच के आश्वासन पर परिजन माने इसके बाद मृतक महिला का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया गया।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!