रतलाम के पर्वतारोही दंपत्ति का कमाल: अफ्रीका महाद्वीप की सर्वोच्च चोटी माउंट किलिमंजारो पर राष्ट्रीय ध्वज फहराकर गाया राष्ट्रगान , 19 हजार फीट की ऊंचाई पर किया सूर्य नमस्कार

Hindi NewsLocalMpRatlamThe National Anthem Was Sung By Hoisting The National Flag On Mount Kilimanjaro, The Highest Peak Of The Continent Of Africa, Surya Namaskar Performed At An Altitude Of 19 Thousand Feet

रतलाम6 घंटे पहले

कॉपी लिंककिलिमंजारो पर्वत की सर्वोच्च शिखर पर पहुंचने वाले अनुराग और सोनाली - Dainik Bhaskar

किलिमंजारो पर्वत की सर्वोच्च शिखर पर पहुंचने वाले अनुराग और सोनाली

रतलाम के एक युवा दंपत्ति ने अफ्रीकी देश तंजानिया की सर्वोच्च चोटी किलिमंजारो को फतेह कर देश के साथ रतलाम का नाम दुनिया में रोशन किया है। रतलाम के अनुराग चौरसिया और उनकी पत्नी सोनाली परमार ने 19341 फीट ऊंची पर्वत चोटी के शिखर पर पहुंचकर तिरंगा लहराया और राष्ट्रगान गाया । रतलाम के इस दंपत्ति ने -19 डिग्री के तापमान में सूर्य नमस्कार कर दुनिया को योग और भारत की संस्कृति का संदेश दिया है। अनुराग और सोनाली ने इस कठिन चुनौती को 12 सितंबर और 13 सितंबर की रात पूर्ण किया और 13 सितंबर की सुबह इस चोटी पर तिरंगा लहराकर राष्ट्रगान गाया और सूर्य नमस्कार किया है।

पर्वतारोहण का जुनून ऐसा की 2 साल के बेटे को मां के पास छोड़ा

दक्षिण अफ्रीका की बेहद कठिन चुनौती माने जाने किलिमंजारो पर्वत की सर्वोच्च शिखर पर पहुंचने वाले अनुराग और सोनाली पहले भारतीय दंपति हैं। अनुराग चौरसिया बैंक ऑफ बड़ौदा में कार्यरत हैं । वहीं,उनकी पत्नी सोनाली परमार राजस्व विभाग में पटवारी है। दोनों ने ही अपने पर्वतारोहण के शौक को पूरा करने के लिए तंजानिया स्थित किलिमंजारो पर्वत पर चढ़ने का कठिन लक्ष्य बनाया और इस मुश्किल चुनौती को पूर्ण कर देश और रतलाम का नाम रोशन किया है। लेकिन यह उपलब्धि ही इस दंपत्ति को ऐसे ही हासिल नहीं हुई। अनुराग और सोनाली ने अपने 2 साल के बेटे रुद्रांजय को अपनी मां के पास छोड़कर इस साहसिक कार्य को अंजाम दिया है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!