सीधी का रिश्वतखोर बीएमओ गिरफ्तार: डॉ.प्रशांत तिवारी ने ली 20 हजार की घूस; मृतक के परिजनों को पीएम रिपोर्ट देने के बदले लिए रुपए

Hindi NewsLocalMpSidhiDr. Prashant Tiwari Took A Bribe Of 20 Thousand; Money For Giving PM Report To The Relatives Of The Deceased

सीधीएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

इओडब्ल्यू की टीम ने बुधवार रात करीब 8:30 बजे सीधी जिले में रिश्वतखोर बीएमओ को गिरफ्तार किया है। टीम ने जिले के रामपुर नैकिन के ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ.प्रशांत तिवारी को 20 हजार रुपए की घूस लेते हुए पकड़ा है। रिश्वतखोर डॉ.प्रशांत तिवारी ने एक ग्रामीण की मौत होने पर उसके परिजनों को पीएम रिपोर्ट जारी करने के बदले घूस ली।

ग्राम चोभरा के सुरेश यादव की 18 अगस्त को पानी में डूबकर मौत हो गई थी। शासन द्वारा पानी से डूबने पर मृत्यु होने पर परिजनों को चार लाख रुपए राहत राशि देने का प्रावधान है। इसके लिए पीएम रिपोर्ट की आवश्यकता होती है। डॉ. प्रशांत तिवारी ने पीएम रिपोर्ट नहीं बनाई। उन्होंने पीएम रिपोर्ट तैयार करने के बदले परिजनों से 50 हजार रुपए की मांग की जा रही थी।

सुरेश के भाई राजेश यादव ने डॉक्टर से बात की तो पहली किस्त के रूप में 20 हजार रुपए देना तय हुआ। बुधवार रात को वह रुपए देने के लिए डॉ.प्रशांत तिवारी के घर पहुंचे। यहां डॉक्टर ने अपने रसोइए प्रमोद कुशवाहा को रुपए देने के लिए कहा। जैसे ही राजेश यादव ने प्रमोद कुशवाहा को रुपए दिए तभी इओडब्ल्यू की टीम ने आरोपी को पकड़ लिया। टीम ने आरोपी डाॅ.प्रशांत तिवारी और प्रमोद कुशवाहा को गिरफ्तार कर लिया गया।

इन्होंने की कार्रवाई

रीवा ईओडब्ल्यू टीम के निरीक्षक अरविंद दुबे, निरीक्षक मोहित सक्सेना, निरीक्षक प्रवीन चतुर्वेदी, उपनिरीक्षक सीएल रावत, उपनिरीक्षक आशीष मिश्रा, उपनिरीक्षक अभिषेक पांडे, उपनिरीक्षक गरिमा त्रिपाठी, एएसआई (एम) संतोष पांडे, प्रधान आरक्षक सत्यनारायण मिश्रा, प्रधान आरक्षक पुष्पेंद्र पटेल सहित 15 लोगों की टीम थी।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!