अग्निवीर भर्ती में घुसा फ़र्जी सैनिक: आर्मी इंटेलिजेंस ने किया गिरफ्तार, पुलिस को सौंपा,

जबलपुर6 घंटे पहले

कॉपी लिंक

अग्नीपथ योजना के तहत हो रही अग्निवीर की भर्ती में आर्मी इंटेलिजेंस ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है जो कि अग्निपथ भर्ती में शामिल होने आए युवकों से रुपए वसूल कर रहा था। आर्मी इंटेलिजेंस ने युवक को पकड़कर गोरा बाजार थाना पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस की जाँच में जानकारी लगी है कि आरोपी युवक का नाम राहुल सिंह चौहान ने जो कि मूलता सीधी जिले का रहने वाला है।

कर्नल अभिजीत पाल जैकब ने गोरा बाजार थाना पुलिस को बताया कि आज दोपहर को जब भर्ती हो रही थी, उस दौरान जानकारी लगी की एक युवक सैनिक की वर्दी में रेलवे स्टेशन में घूम रहा है और आर्मी में शामिल होने आए युवकों के साथ धोखाधड़ी करते हुए अग्निपथ योजना के नाम पर अवैध रुपए की वसूली कर रहा है। जानकारी मिलने के बाद आर्मी की इंटेलिजेंस टीम अलर्ट हुई और फिर राहुल सिंह चौहान को जबलपुर के रेलवे स्टेशन के पास से पकड़ा। इंटेलिजेंस की गिरफ्त में आए राहुल सिंह चौहान ने कोर ऑफ सिग्नल से अपने आप को रिटायर होने का दावा किया जो कि वर्तमान में सेना अस्पताल जबलपुर से जुड़ा हुआ है।

आर्मी की इंटेलिजेंस टीम ने जब राहुल जी चौहान की जांच करवाई तो वह पूरी तरह से झूठी निकली। आर्मी इंटेलिजेंस ने जब सख्ती से राहुल सिंह से पूछताछ की तो उसने बताया कि वह सैनिक नहीं है। आरोपी के पास से आधार कार्ड, सिग्नल की वर्दी में फोटो,सिग्नल की चीता वर्दी में फौजी गाड़ी के साथ फोटो, कोविड-19 कार्ड और फौजी जवानों के साथ फोटो मिला है। आरोपी राहुल सिंह चौहान पिछले 3 दिनों से जबलपुर-मंडला स्थित एक होटल में रुका हुआ था, जहां इंटेलिजेंस आर्मी की टीम जब पहुँची तो होटल के रूम से सेना की वर्दी और कुछ सामान भी मिला।

कर्नल अभिजीत पाल की शिकायत पर गोरा बाजार थाना पुलिस ने आरोपी राहुल सिंह चौहान को गिरफ्तार करते हुए उसके खिलाफ धारा 140, 419, 420 के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। गोरा बाजार थाना प्रभारी विजय परस्ते का कहना है कि पूछताछ के दौरान और कई अहम खुलासे हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!