रानी दुर्गावती छात्रावास का मामला: ABVP ने लगाया वार्डन पर प्रताड़ना का आरोप, सुनीता मिंज को बर्खास्त करने की रखी मांग

अनूपपुर25 मिनट पहले

कॉपी लिंक

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने रानी दुर्गावती छात्रावास की वार्डन सुनीता मिंज पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। नितिन मिश्रा के नेतृत्व में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कार्रवाई की मांग करते हुए छात्र कल्याण अधिष्ठाता (डीएसडब्ल्यू) भूमि नाथ त्रिपाठी को ज्ञापन सौंपा हैं।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय की छात्र इकाई एबीवीपी ने आज रानी दुर्गावती की वार्डन पर छात्राओं को प्रताड़ित का आरोप लगाया हैं। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्व का सबसे बड़ा छात्र संगठन है व लगातार विद्यार्थी हित व समाज हित में कार्य करता आ रहा है।

लेकिन कुछ समय से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्वविद्यालय इकाई की कार्यकर्ताओं को रानी दुर्गावती छात्रावास की वार्डन सुनीता मिंज के ओर से लगातार विभिन्न तरीकों से प्रताड़ित किया जा रहा है। कार्यकर्ता पर झूठे आरोप लगाए गए।

शोध की छात्राओं पर दबाव बना कर जबरदस्ती विद्यार्थी परिषद की कार्यकर्ता को हॉस्टल से बाहर करने की साजिश रची जा रही है। यह कृत्य बार-बार किया जा रहा है। कम्युनिस्ट विचारधारा की साजिश के तौर पर विद्यार्थी परिषद संगठन तोड़ने का कार्य किया जा रहा है। जो की विश्वविद्यालय की छवि को प्रभावित कर रही है।

विद्यार्थी परिषद ने विश्वविद्यालय प्रशासन से यह मांग की हैं कि यदि जल्द ही विद्यार्थी परिषद की कार्यकर्ता को न्याय नहीं मिला व वार्डन सुनीता मिंज को बर्खास्त नहीं किया गया, तो विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन व आगे की कार्रवाई लिए बाध्य होगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!