ग्रामीणों के लिए मुसीबत बना हेवी ट्राफिक: खरगोन में प्रशासन कर रहा है अनदेखी, गड्‌डों में तब्दील हुआ स्टेट हाईवे, लोग होते हैं परेशान

खरगोन26 मिनट पहले

बारिश के बाद सड़कों की हालत खस्ता हो गई है। सबसे ज्यादा हालत खरगोन-खंडवा मार्ग की खराब हुई है। इंदौर-इच्छापुर मार्ग पर मोरटक्का पुल के कारण हैवी ट्रैफिक बंद कर दिया। मार्ग का पूरा ट्राफिक खरगोन मार्ग पर डायर्वट कर दिया था। भारी वाहनों के गुजरने से मार्ग पर पूरी तरह जर्जर हो गया। इस मार्ग पर ग्राम ललनी-टिमरनी के बीच वेदा नदी पर बने पुल के दोनों मार्ग पर एक से डेढ़ फीट गड्ढे हो गए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि भारी वाहनों के गुजरने से हमेशा दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। करीब एक पखवाड़े पहले एक ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया था। ग्रामीणों ने कहा कि प्रशासन द्वारा मार्ग की मरम्मत के कार्य में की जा रही अनदेखी किसी बड़े हादसे का कारण बनेगी।

प्रशासन ने कहा बारिश के बाद होगी मरम्मत, ग्रामीणों ने कहा अभी चाहिए राहत

वहीं सड़कों की मरम्मत को लेकर प्रशासन द्वार बारिश के बाद कार्य शुरु करने की बात कही जा रही है। वहीं मार्ग की हालत को देखते हुए ग्रामीणों ने कहा कि मार्ग से प्रतिदिन सैंकड़ों वाहन गुजर रहे है। प्रशासन को वर्तमान में ही मार्ग को सुगम बनाने के लिए व्यवस्था करनी चाहिए। क्योंकि वेदा नदी पर बने पुल के दोनों और मार्ग गड्‌ढों में तब्दील हो गया है।

80 करोड़ का भेजा है प्रस्ताव, स्वीकृति के बाद शुरु होगा काम

पीडब्लुडी एनएच के एसडीओ अविनाश सोनी ने बताया कि मार्ग पर पूरी तरह जर्जर हो गया है। उसके मरम्मत और सुधार कार्य के लिए 80 करोड़ रुपए का प्रस्ताव बनाकर भेजा है। फिलहाल उसकी स्वीकृती नहीं हुई है। जर्जर मार्ग को सुधारने का कार्य बारिश के बाद शुरु होगा। वहीं ललनी-टेमरनी के पास वेदा नदी पर बने पुल के दोनों एप्रोच मार्ग को फिलहाल कुछ समय के लिए सुधारने का प्रयास कर रहे है। ताकि संबंधित क्षेत्र हादसे ना हो।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!