झिरपा में हरे भरे सागौन पर चल रही कुल्हाड़ी: वन परिक्षेत्र कार्यालय से 5 किमी दूरी पर खेत बनाने के लिए कट रहा जंगल, अधिकारियों को नहीं खबर, उठ रहे सवाल

Hindi NewsLocalMpChhindwaraThe Forest Is Being Cut To Make A Farm At A Distance Of 5 Km From The Forest Zone Office, No News To The Officials, Questions Are Being Raised

छिंदवाड़ा5 मिनट पहले

कॉपी लिंक

तामिया के अंतर्गत झिरपा वन परिक्षेत्र में बेशकीमती सागौन के पेड़ों पर बेधडक़ कुल्हाड़ी चलाई जा रही है। जिसको लेकर वन विभाग के अधिकारियों की भूमिका सवालों के घेरे में है। दरअसल यहां वन के कक्ष क्रमांक 23 में राजस्व एवं वन विभाग की जमीन पर दर्जनों पेड़ों को काट दिया गया है लेकिन सबसे शर्मनाक बात यह है कि वन परिक्षेत्र के अधिकारियों को इस मामले में कोई जानकारी नहीं है।

गौर किया जाए तो क्षेत्र में क्रमांक 23 में सडक़ के किनारे की बेशकीमती जमीन पर लाखों रूपए के सागौन के पेड़ों को भी काटने की तैयारी है, जिसमें कुछ पेड़ अभी भी काटे जा चुके है। गौर करने वाली बात यह हैकि बीट के वन के वन रक्षक की भी इस बीट में बड़ी लापरवाही सामने आ रही है जिसकों लेकर वन परिक्षेत्र अधिकारी को कोई खबर तक नहीं है।

कागजों में चल रहा सरंक्षण अभियान

वन विभाग के द्वारा हरियाली महोत्सव के बाद विशेष रूप से इस क्षेत्र के जंगलों को सहजने के लिए भारी भरकम बजट खर्च किया जाता है लेकिन जिस तरह से यहां पेड़ों की खुलेआम कटाई चल रही है उससे तो यहीं लग रहा है कि यहां पर कागजों में जंगल को बचाने का अभियान चल रहा है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!