शर्मनाक हरकत: बेटियां साफ कर रहीं शौचालय, गुना के 2311 सरकारी स्कूलों में 4700 शौचालयों की जरूरत; चालू सिर्फ 890

Hindi NewsLocalMpGunaDaughters Cleaning Toilets, 4700 Toilets Needed In 2311 Government Schools In Guna; Current Only 890

गुना43 मिनट पहले

कॉपी लिंकचकदेवपुर गांव के स्कूल में छात्राएं करती हैं शौचालय की सफाई। - Dainik Bhaskar

चकदेवपुर गांव के स्कूल में छात्राएं करती हैं शौचालय की सफाई।

बमोरी के चकदेवपुर गांव के प्राथमिक-माध्यमिक स्कूल में कक्षा 5 एवं 6 की बेटियों से शौचालय साफ करवाया जा रहा है। छात्राएं हाथ में झाड़ू लेकर टॉयलेट को साफ करती हैं और उसे धोने के लिए बाहर लगे हैंडपंप से बाल्टी में पानी भर कर लाती हैं। गुना जिले के सरकारी स्कूलों में शौचालयों की हालत खराब है। स्कूलों में छात्र-छात्राएं जर्जर और गंदगी से भरे शौचालयों में जाने को मजबूर हैं।

गुना जिले के 2311 सरकारी स्कूलों में 4700 से ज्यादा शौचालयों की जरूरत है, जिसमें से सिर्फ 890 ही चालू हैं। जिला शिक्षा केंद्र के मुताबिक जिले में 125 शौचालय की मरम्मत के लिए 25 लाख रुपए स्वीकृत हुए हैं। चकदेवपुर में एक ही परिसर में स्कूल प्राइमरी और मिडिल स्कूल हैं। जिस समय बच्चियां शौचालय साफ कर रही थीं। उस समय प्रधानाध्यापक इंदिरा रघुवंशी नहीं थीं। शिक्षिकाओं ने बताया कि वह मीटिंग में गुना गई है। जब दैनिक भास्कर ने उनसे स्कूल की बच्चियों से शौचालय साफ कराने का कारण पूछा तो उन्होंने बात करने से इनकार कर दिया।

शर्मनाक- जिन हाथों में किताबें होनी चाहिए, उनमें थमा दी झाड़ू125 शौचालयों की मरम्मत के लिए 25 लाख स्वीकृत, फिर भी काम शुरू नहीं

जिम्मेदार बोले- कार्रवाई करेंगे

ऐसा कैसे हो रहा है, मैं इसको चैक करवाता हूं। सख्त कार्रवाई करूंगा। संबंधित अधिकारियों को निरीक्षण के लिए भेजूंगा।’-फ्रेंक नोबल ए, कलेक्टर गुना

ये तो सरासर गलत है। हम कल ही नोटिस देकर कारण पूछेंगे। बीआरसीसी को भी नोटिस देंगे’-श्याम कुमार वशिष्ठ, बीईओ बमोरी

सफाई कर्मी की व्यवस्था पंचायत की होती है। ऐसा किया जा रहा है तो वह गलत है।’-सतीश शर्मा, बीआरसीसी

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!