शिवपुरी में मड़ीखेड़ा डैम के 4 गेट खोले: शहर की निचली बस्ती सहित गांवो में भरा पानी, लोगों के घरों में घुसा

शिवपुरी20 मिनट पहले

जिले में पिछले तीन दिन से हो रही बारिश के चलते एक बार फिर नदी नाले अपने पूरे उफान हैं। सिंध नदी पर बने अटल सागर बांध मड़ीखेड़ा डैम के कैचमेंट एरिया में पानी बढ़ने के बाद बीते रोज डैम के 6 गेट को खोल दिया गया था। जिसके बाद शाम को चार गेटों को बंद कर दिया गया था परन्तु रातभर बदराओं के बरसने के चलते मनीखेड़ा डेम प्रबंधन ने अभी वर्तमान स्थिति मे छोङे जा रहे जल की मात्रा में इजाफा किया जाएगा। आज लगभग 2000 से 2500 क्यूमेक्स जल आज छोड़ा जाएगा। इसके चलते मोहिनी बांध से छोड़े जा रहे पानी की मात्रा बढ़ाकर 2500 क्युमेक से 3000 क्युमेक तक छोड़ने की संभावना है। प्रशासन ने आमजन को नदी के आसपास क्षेत्र से दूर रहने का अलर्ट जारी किया है।

नाले में आया उफान, ग्रामीणों के घरों में भरा पानी

जिले में लगातार बारिश का दौर जारी है जिसके चलते क्रम बना हुआ है, जिसके चलते शहर की कई निचली बस्तियों में पानी भर गया। इसके साथ ही सतनबाड़ा थाना क्षेत्र के सकलपुर गाँव में तेज बारिश के चलते नाला उफान पर आ गया जिससे गांव की आदिवासी बस्ती में जल भराव की स्थिति निर्मित हो गई। इसके अतिरिक्त आदिबासी बस्ती के साथ साथ अन्य घरों में भरे पानी से ग्रामीणों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है ग्रामीणों की माने तो तेज बारिश, के बाद गांव मे बहने वाला रपटा पर से पानी बह रहा है, रात भर ग्रामीणों को खुले आसमान के नीचे भीगते हुए रात बितानी पड़ रही है

भदैयाकुंड का झरना हुआ ओवर फ्लोशहर में विते रात में हुई लगातार बारिश के चलते सभी नाले उफान पर आ गए और इन सभी नालों का पानी अंतत: भदैयाकुंड तक पहुंचा। इस वजह से भदैयाकुंड का झरना बेहत तेज रफ्तार से बहने लगा। भदैया कुंड के सभी कुंड ओवरफ्लो हो गए। पानी बेहद उफान के साथ बहने लगा। इसी के चलते शहर के कई लोग पानी का मजा लेने के लिए भदैया कुंड पर पहुंच रहे हैं। ऐसे हालातों में पुलिस ने सतर्कता बरतते हुए भदैया कुंड पर पुलिस तैनात की है। भदैया कुंड के नजारे की बात करें तो पानी के बीच यहां का नजारा बेहद रोमांच पैदा करने वाला नजर आ रहा था।

जिले में बारिश की स्थितिशिवपुरी जिले में अभी तक अभी तक 934.71 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज हो चुकी है। जबकि शिवपुरी जिले में बीते वर्ष आज दिनांक तक 1240.48 मि.मी.औसत वर्षा हुई थी। जबकि जिले की औसत वर्षा 816.3 मि.मी.है। बीते वर्ष जिले में कुल 1452.9 मि.मी.वर्षा रिकॉर्ड की गई थी। भू-अभिलेख शिवपुरी के अधीक्षक ने बताया कि अभी तक शिवपुरी में 1278.50 मि.मी., बैराड़ में 758.50 मि.मी., पोहरी में 913.50 मि.मी., नरवर में 867 मि.मी., करैरा में 765 मि.मी., पिछोर में 1016.70 मि.मी., कोलारस 985.40 मि.मी., बदरवास में 997 मि.मी. तथा खनियाधाना में 831 मि.मी. वर्षा दर्ज हुई है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!