महेश्वर में माता के मंदिरों में लगी कतारें: रात में होगा गरबा की प्रस्तुति, लोगों ने नर्मदा जी में भी लगाई डुबकी

महेश्वरएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

नगर में नवरात्री पर्व को लेकर तैयारियां पूर्ण हो गई है। नगर के भवानी माता मंदिर के अलावा मां नर्मदा तट स्थित सात माता मंदिर एवं अन्य देवी मंदिरों में सोमवार से नवरात्रि पर्व को लेकर विशेष पूजन अर्चन अभिषेक के साथ माताजी का आकर्षक रूप से श्रंगार किया। जहां प्रतिदिन हजारों की तादाद में श्रद्धालु दर्शनार्थ पहुंचेंगे। वहीं मां नर्मदा नदी किनारे साथ माता मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं के स्नान पूजन का क्रम भी शुरू हुआ। इसके अलावा नगर में होने वाले गरबा नृत्य को लेकर गरबा पांडाल भी तैयार हो गए हैं।

जहां आज से 9 दिनों तक रात्रि के दौरान बालिकाएं एक से बढ़कर एक गरबा नृत्य की प्रस्तुति देंगी। वहीं नगर से 12 किलोमीटर दूर मां आशापुरी धाम पर नवरात्री उत्सव की तैयारी भी पूर्ण हुई। जानकारी देते हुए मंदिर समिति के त्रिलोक यादव ने बताया कि मां के धाम पर नव दिवसीय शतचंडी महायज्ञ का आयोजन होगा। जिसमें 9 दिनों तक ब्राह्मणों द्वारा विशेष पाठ कर यज्ञ यजमानों द्वारा वैदिक रीति से पूजा पाठ कर मां की आराधना की जाएगी। 9 दिन तक सुबह से शाम तक मां के दर्शन के लिए आए भक्तों के लिए खिचड़ी प्रसादी की व्यवस्था रहेगी।

प्रतिदिन सुबह और रात 8 बजे महाआरती का आयोजन किया जाएगा। साथ ही नवमी पर विशेष महाआरती के आयोजन के साथ गुरुवार को बच्चों के द्वारा विशेष बालगोपाल महाआरती का आयोजन भी रहेगा। बच्चों द्वारा प्रति गुरुवार बाल गोपाल महाआरती की जाती है। जिसमें प्रसादी वितरण, मंदिर प्रांगण की सफाई वाद्य यन्त्र बजाने से लेकर आरती घूमाने के साथ पुरी व्यवस्था बच्चे ही करते हैं। आरती के पूर्व बच्चों मे शिक्षा, संस्कृति व संस्कार, योग व खेलकूद की गतिविधि कराई जाती है। जिससे बच्चों को समृद्ध बनाया जा सके। मां के धाम पर इस वर्ष विशाल शिव प्रतिमा विराजित की है। साथ ही लगभग 4000 भक्त बैठ कर सत्संग का लाभ ले सकें। ऐसे सत्संग भवन का निर्माण भी चल रहा है जो आगामी महीने मे पूर्ण हो जाएगा।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!