माता की भक्ति में रमा शहर: 37 साल से दाल बाजार में होती है मां कैलादेवी के दरबार की स्थापना

ग्वालियर4 घंटे पहले

ग्वालियर में शरदीय नवरात्रि पर मां आदिशक्ति का आगमन चर्तुग्रही योग में धूमधाम से हुआ है। शहर भर में नवरात्रि का उत्साह दिखाई दिया। शहर में करीब 2 हजार से ज्यादा छोटे-बड़े माता के पंडाल लगे हैं। हर तरफ रोशनी और खुशहाली नजर आ रही है। कहीं दुर्गा तो कहीं कैला देवी विराजमान हैं। नवरात्र के पहले दिन हम बात कर रहे हैं। दाल बाजार स्थित माता के पंडाल से बीते 37 साल से बाजार के व्यापारी मां की स्थापना करते हैं। चाहें कोरोना हो या कोई और आपदा पर माता की स्थापना का क्रम कभी नहीं टूटा।

शहर के इंदरगंज चौराहे पर स्थित दाल बाजार के व्यापारियों की नव दुर्गा उत्सव समिति द्वारा माता का पंडाल लगाकर मां केला देवी की प्रतिमा की स्थापना की गई है। दाल बाजार समिति की ओर से बताया गया है कि दाल बाजार में साल 1985 से माता की मूर्ति की स्थापना की जाती है। यह 37वां साल है जब दाल बाजार में मां की प्रतिमा की स्थापना की गई है। दाल बाजार नव दुर्गा उत्सव समिति के सदस्य दीपक गुप्ता का कहना है कि हर वर्ष के प्रति उनकी समिति ने इस बार भी कैला देवी की 11 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित की है।

इस बार नहीं कोई बंदिश

दाल बाजार नवदुर्गा उत्सव समिति के सदस्य दीपक ने बताया कि पिछले 2 वर्षों से कोरोना के चलते सभी धार्मिक कार्यक्रम कोविड गाइड लाइन के चलते नहीं हो पाए थे। जिसके चलते हैं वह नवदुर्गा उत्सव धूमधाम से नहीं मना पाए थे, पर इस बार कोविड की छाया इस नौ दिन के त्योहार पर नहीं है। ऐसे में इस बार पूरा बाजार भक्ति में रमा नजर आएगा।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!