रूपेश को लगा कृत्रिम हाथ, चलाई साइकिल: फैक्ट्री में काम करते टूटा था हाथ, लगते ही मां दुर्गा को दोनों हाथों से भेंट किया नारियल

Hindi NewsLocalMpKhandwaThe Hand Was Broken While Working In The Factory, Coconut Was Presented To Mother Durga With Both Hands As Soon As It Appeared

खंडवा34 मिनट पहले

कॉपी लिंक

खंडवा के जावर निवासी रूपेश का दाहिना हाथ कट जाने से उसके जीवन में अंधेरा छा गया था। मनोबल काफी टूट चुका था और सोचता था कि मैं अपने जीवन में अब कैसे कार्य कर सकूंगा‌‌। माताजी के आशीर्वाद से इस नवरात्रि पर्व पर रूपेश को रोटरी क्लब ने दान स्वरूप कृत्रिम हाथ दिया, इससे जीवन में खुशियां छा गई।

समाजसेवी सुनील जैन ने बताया कि, जावर निवासी रुपेश पिता विजयसिंह, लगभग 1 माह पूर्व अपने भाई के साथ पीथमपुर गया था, वहां फैक्ट्री मैनेजर कहने पर एक दिन फैक्ट्री में काम करने चला गया। काम करते समय दाहिना हाथ मशीन में आ जाने से कट गया। जिससे रुपेश का मनोबल बहुत गिर गया था।

दो दिन पूर्व कारपेंटर का काम करने वाले राहुल और शिक्षक रघुवीर शर्मा से इनकी मुलाकात हुई, जिन्होंने रुपेश को रोटरी क्लब खंडवा के कृत्रिम अंग प्रकल्प के संयोजक लोकेश झंवर से मिलवाया और एलएन 4 कृत्रिम अंग लगवाया।

हाथ लगने के बाद रुपेश रोमांचित था, बहुत देर तक उसने साइकल चलाई, चाय पी, देवी मां को दोनों हाथों से नारियल भेंट किया। अपने हाथों से माता-पिता का नाम लिखा और हाथ जोड़कर क्लब के सदस्यों का आभार माना। रोटरी क्लब ने नवरात्रि पर्व पर भी रूपेश को कृत्रिम हाथ लगाकर सेवा का पुण्य कार्य किया। इस अवसर पर रोटरी क्लब के प्रकल्प संयोजक लोकेश झंवर, मनोज जौहरी, जगदीश पालीवाल, संजय शर्मा शर्मा, गौरव पिसाल, धाकड़ महेश्वरी समाज के अध्यक्ष रितेश गुप्ता, मंगलेश डोंगरे, सावन लाड़ आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!