जबलपुर में 8 साल की बच्ची सहित 11 पर एफआईआर: वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन के रीजनल मैनेजर की शिकायत पर दर्ज हुई शहपुरा थाने में एफ.आई.आर


Hindi NewsLocalMpJabalpurFIR Was Lodged In Shahpura Police Station On The Complaint Of Regional Manager Of Ware Housing Corporation

जबलपुर26 मिनट पहले

जबलपुर पुलिस अजब हैं-जबलपुर पुलिस गजब हैं। ज़ी हां जबलपुर के शहपुरा थाना पुलिस ने बिना किसी जाँच के एक आठ साल की बच्ची के खिलाफ एफ.आई.आर दर्ज की हैं। पुलिस थाने में बच्ची सहित 11 लोंगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई हैं वेयर हॉउस के मैनेजर ने। शहपुरा थाना में वेयर हॉउस अधिकारी ने अपनी शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया की दो दिन पहले उसके आफ़िस में आकर 11 लोंगों ने धमकी दी हैं जिसमें 8 साल की बच्ची भी हैं। जिसके बाद शहपुरा थाना पुलिस ने एफ.आई.आर दर्ज कर जाँच शुरू कर दी हैं।

शहपुरा थाना पुलिस ने 11 आरोपियों के साथ जिस 8 साल की बच्ची को नामजद आरोपी बनाया हैं उसका इस मामले से कोई लेना देना नही था इसके बाद भी बच्ची के नाम पर एफआईआर दर्ज की गई हैं। स्टेट वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन के रीज़नल मैनेजर ने पुलिस को शिकायत में बताया था कि वेयर हाउस संचालकों ने उसके ऑफिस में घुसकर ना सिर्फ मारपीट की बल्कि उसे जान से मारने की धमकी भी दी। वेयर हाउस संघ के लोंगों का कहना हैं कि कॉर्पोरेशन के रीजनल मैनेजर के पास वह लोग अपनी शिकायत लेकर पहुंचे थे लेकिन उन्होंने बात सुनने की बजाय व्यापारियों पर जान से मारने की धमकी देने की एफ.आई.आर दर्ज करवा दी।

जबलपुर के वेयर हाउस संचालकों ने कलेक्टर से इस पूरे मामले में शिकायत कर निष्पक्ष जांच की मांग की है। दरअसल बीते दिनों शहपुरा के एक वेयर हाउस से डेढ़ करोड़ रुपयों की धान गायब होने का मामला सामने आया था, वेयर हाउस संचालकों का कहना था कि गोदाम की 2 चाबियां होती हैं जिसमें एक, वेयर हाउस संचालक के पास और दूसरी वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के ब्रांच मैनेजर के पास होती है। संचालकों का कहना था कि बिना ब्रांच मैनेजर की सहमति के गोदाम से धान नहीं निकाली जा सकती लेकिन धान चोरी के मामले में सिर्फ गोदाम संचालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी गई और ब्रांच मैनेजर की जांच भी नहीं की गई।

वेयर हाउस संचालकों ने कार्पोरेशन के रीज़नल मैनेजर पर झूठी शिकायत दर्ज करवाने का आरोप लगाया है। व्यापारियों ने जबलपुर कलेक्टर से मिलकर पूरे मामले की शिकायत कर निष्पक्ष जांच की मांग की है जिस पर कलेक्टर ने जांच का भरोसा दिलाया है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!