गरबा पंडाल में घुसे मुस्लिम युवक की पिटाई: इंदौर में दो दिन में दूसरा मामला, बचने के लिए जिंदा पिता को मरा बताया

इंदौर35 मिनट पहले

इंदौर में लगातार दूसरे दिन बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने वर्ग विशेष के युवक को गरबा पंडाल के पास घूमते हुए पकड़ा। बुधवार रात पकड़े गए युवक ने पूछताछ में पहले तो अपनी पहचान छुपाने की कोशिश की। बाद में पहचान उजागर होने पर पिता की कब्र पर फूल चढ़ाने जाने की बात कहते हुए लौटते समय पंडाल के पास गरबा देखने के लिए रुकने का बहाना बनाया।

असली पहचान सामने आने पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने युवक की पिटाई करते हुए उसे पुलिस के सुपुर्द कर दिया। युवक को छुड़वाने के लिए उसके पिता जब थाने पहुंचे तो युवक का झूठ पकड़ा गया। इसके बाद उस पर प्रतिबंधात्मक धाराओं में कार्रवाई की गई। पहचान छुपाने वाला इमरान गरबा पंडाल में कर रहा था छेड़छाड़…

रावजी बाजार TI प्रीतमसिंह ठाकुर के मुताबिक पलसीकर स्थित गरबा पंडाल से इमरान खान निवासी मोती तबेला को कुछ लोगों ने पकड़ा। उससे जब नाम पूछा गया तो उसने अपना नाम रोहित बताया। युवक लड़कियों पर कमेंट कर रहा था। इस पर लोगों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी। कुछ स्थानीय लोगों ने उसे पहचान भी लिया और पुलिस को मामले की सूचना दे दी। यहां से थाने का बल उसे गाड़ी में लेकर थाने आ गए। पहचान छुपाने के मामले में आरोपी पर प्रतिबंधात्मक धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

आरोपी इमरान को भीड़ से बचाकर थाने ले जाते पुलिसकर्मी।

आरोपी इमरान को भीड़ से बचाकर थाने ले जाते पुलिसकर्मी।

लड़की का हाथ पकड़ने की कोशिशबजरंग दल के पदाधिकारी तनु शर्मा ने आरोप लगाया कि इमरान वहां काफी देर से खड़ा था। उसने लड़की का हाथ पकड़ने की कोशिश की। स्थानीय लोगों ने उसका विरोध किया तो इमरान उनसे विवाद करने लगा। इसके बाद लोगो ने उसकी सामूहिक पिटाई कर दी। बाद में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को जानकारी लगी। उन्होंने मामले में आरोपी को इमरान को पुलिस को सौंप दिया।पहले कहा पिता की कब्र पर फूल चढ़ाने गया थाइमरान मोती तबेला का रहने वाला है। पुलिस के सामने पहले इमरान ने कहा कि वह कब्रस्तान में अपने पिता की कब्र पर फूल चढ़ने गया था। रात में जब इमरान के पिता थाने पहुंचे तो उसकी पोल खुल गई। अफसरों के सामने बताया कि वह रात में गरबे देखने ही निकला था जहां हिंदूवादियों ने उसे पकड़ लिया।

मंगलवार को पंढ़रीनाथ से पकड़ाए थे युवक।

मंगलवार को पंढ़रीनाथ से पकड़ाए थे युवक।

पंढ़रीनाथ में पकड़ाए थे सात युवकहिंदूवादियों ने मंगलवार रात इंदौर के पंढरीनाथ चौराहे के गरबा पंडाल में पहचान छुपाकर आए 7 मुस्लिम युवकों को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया था। ये युवक वहां फोटो-वीडियो बना रहे थे, उनकी हरकतें देखकर वहां मौजूद बजरंग दल के सदस्यों को उन पर शक हुआ। जिसके बाद उन्होंने उनका नाम पूछा और आईडी दिखाने को कहा। सभी युवकों ने अपने नाम गलत बताए। आईडी मांगने पर भी नहीं दिखाई। इसके बाद उन युवकों को पुलिस के हवाले कर दिया। सभी के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धाराओं में केस दर्ज किया गया है। सभी को कोर्ट पेश किया था जहां से उन्हें जमानत मिली थी।पूरी खबर यहां पढ़ें

मंगलवार को भी पकड़े गए थे वर्ग विशेष के युवक।

मंगलवार को भी पकड़े गए थे वर्ग विशेष के युवक।

बजरंग दल दे चुका है ये चेतावनी

बजरंग दल संयोजक तनु शर्मा ने शनिवार को ही गैर हिंदू समाज के युवकों को चेतावनी देते हुए कहा था कि, वे गरबा पंडाल में आएंगे दो पैरों पर और जाएंगे चार कंधों पर। उनके मुताबिक लव जिहाद की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए ही उन्होंने ये बात कही है। उन्होंने बताया था कि नवरात्रि के दौरान गरबा पंडालों में बजरंग दल के कार्यकर्ता तैनात रहने और प्रत्येक युवक की आईडी देखने की बात भी कही थी। शर्मा ने कहा था कि गैर हिंदू युवक पंडाल में नजर आएगा तो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

सभी को कोर्ट पेश किया था जहां से उन्हें जमानत मिली थी।

सभी को कोर्ट पेश किया था जहां से उन्हें जमानत मिली थी।

संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने भी गरबा पंडालों को लेकर दी थी हिदायत

शिवराज सरकार में संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने लव जिहाद और गरबा पंडाल को लेकर पिछले दिनों ग्वालियर में बड़ा बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि गरबा पंडाल लव जिहाद का बड़ा माध्यम बन चुके हैं, इसलिए बहुत जरूरी है कि कोई भी व्यक्ति गरबे में अपनी पहचान छिपाकर नहीं आए। पंडाल में आने वाले हर व्यक्ति को आईडी देखकर ही एंट्री दें। ये सभी आयोजकों को तय करना चाहिए।पूरी खबर यहां पढ़ें

कांग्रेस ने किया था संस्कृति मंत्री के बयान का विरोध

कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर के बयान पर कांग्रेस ने निशाना साधते हुए कहा था कि उन्हें भारतीय संस्कृति का ज्ञान नहीं है। पूरी खबर यहां पढ़ें

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!