‘अभिव्यक्ति’ में छाया 30 साल पुराना लहंगा: पार्टिसिपेंट ने जरी-जरदोजी वर्क से बना 12 किलो वजनी लहंगा पहना; व्रत में भी कर रहे गरबा

Hindi NewsLocalMpBhopalThe Participant Wore A 12 Kg Lehenga Woven With Zari zardozi Work; Doing Garba Even In Fasting

भोपाल40 मिनट पहले

कहते हैं ‘ओल्ड इस गोल्ड’। फिर चाहे पुराने गाने हों, पुराना चावल या पुरानी यादें। शुक्रवार को अभिव्यक्ति गरबा का तीसरे दिन था। इसमें एक पार्टिसिपेंट ने यादें ताजा करने के लिए 1991 का लहंगा पहना। जरी-जरदोजी के वर्क से बने इस लहंगे का वजन 12 किलो से ज्यादा है। ये लहंगा पार्टिसिपेंट की शादी का है।

‘अभिव्यक्ति’ के तीसरे दिन शु्क्रवार को लोगों में एक्साइटमेंट देखने को मिला। चारों ओर रोशनी से सराबोर ग्राउंड में लोग उल्लास के साथ थिरकते नजर आए। खास है कि नवरात्र में मां की आराधना करते हुए 9 दिनों के व्रत के बावजूद पार्टिसिपेंट्स ने उसी उत्साह के साथ गरबा किया।

एक पार्टिसिपेंट ने 1991 का लहंगा 2022 में पहना। ये लहंगा इनकी शादी का है। खास है कि जरी-जरदोजी से बने लहंगे का वजन करीब 12 किलो है। 30 साल बाद आज भी ये लहंगा उतना ही चमकदार है, जितना शादी के समय था।

एक पार्टिसिपेंट ने 1991 का लहंगा 2022 में पहना। ये लहंगा इनकी शादी का है। खास है कि जरी-जरदोजी से बने लहंगे का वजन करीब 12 किलो है। 30 साल बाद आज भी ये लहंगा उतना ही चमकदार है, जितना शादी के समय था।

ये सभी वह पार्टिसिपेंट्स हैं, जिनकी शक्ति मां भवानी से जुड़ी है। उपवास में भी इनका उत्साह और जोश कायम है। इनमें कोई एक टाइम फलाहारी है, तो कोई दिन में एक वक्त भोजन कर रहा है।

ये सभी वह पार्टिसिपेंट्स हैं, जिनकी शक्ति मां भवानी से जुड़ी है। उपवास में भी इनका उत्साह और जोश कायम है। इनमें कोई एक टाइम फलाहारी है, तो कोई दिन में एक वक्त भोजन कर रहा है।

डायटीशियन-न्यूट्रीशियन डॉ. निधि पांडेय ने बताए हेल्दी रहने के तरीके

7 से 8 चम्मच घी खाएं

पूड़ी-पराठे वही लोग रिपीट करें, जिनको गरबा करना ही है या वर्कआउट कर रहे हैं। घी का सेवन जरूर करें। अगर, वर्कआउट कर रहे हैं, तो 7 से 8 चम्मच घी लें। अगर वर्कआउट नहीं कर रहे हैं, तो 3 से 4 चम्मच घी लें। वर्कआउट वाले दिन में 3 से 4 बार ग्रीन टी लें।

जीरा का भिगोया पानी

200 -300 एमएल पानी में 2 से 3 चम्मच जीरा भिगो कर रख दें। सुबह खाली पेट छान के पी लें। ये बॉडी को डिटॉक्स करने में मदद करता है। तुलसी अर्क: तुलसी के पत्तों को पानी में बॉयल करके छान के पीएं। मार्केट में तुलसी अर्क मिलते हैं, उनकी 7 से आठ बूंद पानी में डाल कर पीएं।

नाश्ते में ड्राई फ्रूट्स लें

अगर आपका सिर्फ व्रत है, तो गूदे वाले डॉयफ्रूट्स जैसे छुहारा, एप्रिकॉट ,किशमिश मुनक्का, काली किशमिश एक मुट्ठी भिगोकर खाएं। उसी के साथ हार्ड ड्राई जैसे बादाम, अखरोट, काजू का भी सेवन कर सकते हैं। इन्हें अच्छे से चबा-चबा कर खाएं या दूध-पानी के साथ ब्लेंड करके स्मूदी भी ले सकते हैं। इसके बीच चाय, ग्रीन टी और कॉफी में आधे घंटे का गैप रखें। अगर आप वेट लॉस करना कहते हैं, तो चीनी की मात्रा कम रखें। अगर ब्लैक कॉफी और ब्लैक टी से बना सकते हैं।

फ्रूट्स का सेवन करें

दूध के साथ लें.. नहीं तो काली मिर्च के साथ फ्रूट्स सेवन कर सकते हैँ। फलों के बीज भी ले सकते हैं। जैसे तरबूज, खरबूज और कद्दू के बीज। चाहें तो 1 या 2 राजगिरा के लड्डू ले सकते हैं। फलों का सेवन सूर्यास्त से पहले ही करे। अगर आपको अपने बॉडी में एनर्जी मेन्टेन करनी है तो दिन में 2 बार खाना जरूर खाये वरना बॉडी फैट स्टोर करना शुरू कर देती है।

लंच में पनीर की भुर्जी

लौकी की सब्जी के साथ सिंघाड़े के आटे की पूरी, रोटी या पराठा ले सकते हैं। बॉडी में फाइबर की मात्रा ज्यादा रखने के लिए 2 से 3 कटोरी लौकी की सब्जी का सेवन करें। उसे या तो देसी घी या फलाहारी तेल में ही बनाएं। लौकी, कद्दू और खीरे का रायता भी लिया जा सकता है। रात को कुकर में लौकी, गाजर, शकरकंद, मखाने, मूंगफली और ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर पूरी, रोटी या पराठे खा सकते हैं। घी में भुने मखाने, मूंगफली और ड्राई फ्रूट्स। राजगिरे के लड्डू, खजूर, छुहारे वाला दूध। लौकी, कद्दू की खीर बिना चीनी के या मीठे के लिए किशमिश का यूज करें। लस्सी और छाछ का भी सेवन कर सकते हैं।

तस्वीरों में देखिए गरबे के रंग

एक ग्रुप पार्टिसिपेंट्स ने प्रॉम्प से गुजराती ड्रेस डिजाइन की। इस वजनी गुजराती ड्रेस में उन्होंने गरबा के स्टेप्स भी बखूबी किए।

एक ग्रुप पार्टिसिपेंट्स ने प्रॉम्प से गुजराती ड्रेस डिजाइन की। इस वजनी गुजराती ड्रेस में उन्होंने गरबा के स्टेप्स भी बखूबी किए।

गरबोत्सव में एक पार्टिसिपेंट देवी मां के लुक में ही आ गई। पार्टिसिपेंट ने हाथ में त्रिशूल भी लिया हुआ था। सभी स्टेप्स भी इसी ड्रेस में त्रिशूल लेकर किए।

गरबोत्सव में एक पार्टिसिपेंट देवी मां के लुक में ही आ गई। पार्टिसिपेंट ने हाथ में त्रिशूल भी लिया हुआ था। सभी स्टेप्स भी इसी ड्रेस में त्रिशूल लेकर किए।

गरबोत्सव में बुजुर्ग रामचंद्र शर्मा ने शरीर पर 108 दीयों सजाकर महाआरती की। उन्होंने बताया कि 12 ज्योतिर्लिंग और नौ देवियां के साथ नौ ग्रहों और 12 राशियों की आरती को जब हम सभी को समर्पित करते हैं, तो ये 108 होती है।

गरबोत्सव में बुजुर्ग रामचंद्र शर्मा ने शरीर पर 108 दीयों सजाकर महाआरती की। उन्होंने बताया कि 12 ज्योतिर्लिंग और नौ देवियां के साथ नौ ग्रहों और 12 राशियों की आरती को जब हम सभी को समर्पित करते हैं, तो ये 108 होती है।

गरबोत्सव में भगवा रंग भी देखने को मिला। इसमें कुछ पार्टिसिपेंट भगवा कपड़े पहनकर शामिल हुए।

गरबोत्सव में भगवा रंग भी देखने को मिला। इसमें कुछ पार्टिसिपेंट भगवा कपड़े पहनकर शामिल हुए।

में तीसरे दिन पार्टिसिपेंट्स ने आरती की। करीब 15 मिनट चलने वाली आरती में पार्टिसिपेंट कई रंगों में तैयार होकर आए।

में तीसरे दिन पार्टिसिपेंट्स ने आरती की। करीब 15 मिनट चलने वाली आरती में पार्टिसिपेंट कई रंगों में तैयार होकर आए।

एक पार्टिसिपेंट भगवान शंकर के अर्द्धनारीश्वर स्वरूप की तरह भगवान कृष्ण-राधा के स्वरूप बनाया। इसे सिर पर रखकर गरबा किया।

एक पार्टिसिपेंट भगवान शंकर के अर्द्धनारीश्वर स्वरूप की तरह भगवान कृष्ण-राधा के स्वरूप बनाया। इसे सिर पर रखकर गरबा किया।

गरबोत्सव में आजादी का अमृत महोत्सव का रंग भी देखने को मिला। एक पार्टिसिपेंट इस तरह लिखा बैनर लेकर शामिल हुआ।

गरबोत्सव में आजादी का अमृत महोत्सव का रंग भी देखने को मिला। एक पार्टिसिपेंट इस तरह लिखा बैनर लेकर शामिल हुआ।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!