चेतना शिविर का आयोजन: जागरूकता ही बचाव है, अत्याचार-अपराध के खिलाफ आवाज उठाना बहुत जरूरी  है

मंदसौरएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

विद्यार्थी जीवन से ही साहसी, निडर एवं आत्मनिर्भर बनने का प्रयास करना चाहिए। अपनी जिंदगी के बारे में यदि आप नहीं सोचेंगे तो दूसरों के अनुसार आपको चलना होगा। यह बात शासकीय ईएफए कन्या उमावि बालागंज में पुलिस एवं उड़ान संस्था के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित चेतना शिविर में एएसपी गौतम सोलंकी ने विद्यार्थियों से कही। उन्हाेंने कहा विद्यार्थी जीवन से ही नियमित अध्ययन के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी करें।

पुलिस, सिविल सर्विसेज तथा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के संदर्भ में भी मार्गदर्शन दिया। डीएसपी किरण चौहान, सीएसपी सतनाम सिंह, टीआई अमित सोनी, एसआई नेहा जैन ने भी पुलिस की विभिन्न परीक्षाओं कांस्टेबल एंट्री, सब इंस्पेक्टर एंट्री, एमपीपीएससी एवं सिविल सर्विसेज के बारे में विद्यार्थियों से चर्चा की एवं प्रश्नों का जवाब दिया।

‘अपरिचित व्यक्तियों पर बिल्कुल भी विश्वास ना करें’

अधिकारियों ने छात्राओं को इंटरनेट एवं मोबाइल के इस्तेमाल में सावधानी के बारे में विशेष जानकारी दी। कहा कि सायबर क्राइम करने वालों से सतर्क रहें एवं कोई भी घटना घटती है तो तुरंत सूचना दें। मोबाइल पर किसी भी अनजान लिंक पर कभी भी ना जाएं एवं धोखे में ना आएं। अपरिचित व्यक्तियों पर बिल्कुल भी विश्वास ना करें। उड़ान संस्था डायरेक्टर संगीता कुंभकार एवं उनके दल ने ‘ह्यूमन ट्रैफिकिंग’ एवं ‘बाल विवाह’ के विषय पर नुक्कड़ नाटक किया। प्राचार्य सुदीप दास ने कहा कि विद्यालय में व्यक्तित्व विकास एवं सॉफ्ट स्किल डेवलपमेंट से संबंधित विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। कॅरियर काउंसिलिंग विभाग द्वारा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के संबंध में मार्गदर्शन दिया जाता है। आभार छात्रा दिशा भाटी एवं शिप्रा ने माना।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!