‘अभिव्यक्ति’ में चौथे दिन उमंग और उत्साह: 1 लाख वॉट के साउंड से मचा धमाल, US से आई पार्टिसिपेंट बोली- ऐसा गरबा अटलांटा में भी नहीं होता

Hindi NewsLocalMpBhopal1 Lakh Watt Sound Created A Ruckus, Participant Bid From US Such Garba Does Not Happen Even In Atlanta

भोपाल2 घंटे पहले

अभिव्यक्ति गरबोत्सव में चौथे दिन जबर्दस्त धूम रही। शनिवार को USA के अटलांटा से आई पार्टिसिपेंट अद्रिजा सक्सेना ने भी पार्टिसिपेट किया। उन्होंने बताया कि यूएसए और भारत में गरबा करने का अलग एक्सपीरियंस रहा।

धोती-कुर्ता, कोटी, चनिया चोली, कांच और कौड़ियों से जड़ी ड्रेसेस… यह देखने काे मिल रहा अभिव्यक्ति गरबा महोत्सव में…। यहां अनूठे अंदाज में सजे हजारों पार्टिसिपेंट्स पारंपरिक धुनों पर गरबा खेल रहे हैं। शनिवार रात ताे यहां गजब का उत्साह देखने काे मिला। रात 8 बजे से ही पंडाल में भीड़ उमड़ने लगी थी। अभिव्यक्ति की सिग्नेचर ट्यून बचते ही डांडिए खनकने लगे, जो देर रात तक बजते रहे। साउंड सिस्टम पर कई पार्टिसिपेंट्स ने सिर पर 5 से 10 किलो के प्रॉप को कैरी करते हुए गरबा किया। जनरल सर्किल में ऑडियंस ने जोश के साथ डांडिया किया। हिंदी के साथ तेलुगू के साथ अन्य भाषा में बजे गीतों पर डांडिया, तीन ताली और फ्री स्टाइल राउंड हुआ।

ब्रेक होते ही फूड स्टॉल पर भीड़

अभिव्यक्ति गरबा महोत्सव में डांडिए की खनक के बीच ऑडियंस देशभर के जायकों का भी लुत्फ उठा रहे हैं। ब्रेक होते ही फूड जोन पर भीड़ उमड़ रही है। यहां गुजरात के जगन्नाथ भाई की दाबेली जहां मुंह में पानी ला रही है, तो कोलकाता की खीर अपनी ओर खींच रही है। इंदौर की फलाहारी तो हर कोई चखना चाह रहा है। इसके अलावा ऑडियंस यहां यूपी और दिल्ली की चाट, मथुरा का केसर मिल्क, रबड़ी, साउथ इंडियन इडली-डोसा, अमृतसरी छोले-कुलचे, मुंबई की पाव भाजी का भी स्वाद ले रहे हैं। इसके अलावा बर्गर, पिज्जा, फ्रेंच फ्राइज और गार्लिक ब्रेड भी यहां मौजूद है।

में फूड जोन में फूड जोन में भी भीड़ देखने को मिली। यहां स्टॉल्स पर लोगों ने विशेष डिशेज का लुत्फ उठाया।

में फूड जोन में फूड जोन में भी भीड़ देखने को मिली। यहां स्टॉल्स पर लोगों ने विशेष डिशेज का लुत्फ उठाया।

285 गरबा गीतों से बांध रहे समां

22 साल से अभिव्यक्ति के लिए म्यूजिक डायरेक्शन कर रहे हारमनी ग्रुप के डायरेक्टर उमेश तरकसवार ने बताया कि हमारी 16 मेंबर्स की टीम है। इस बार के लिए लगातार 6 महीने की प्रैक्टिस के बाद हिंदी, गुजराती, तमिल, कन्नड़, तेलुगू और मलयालम के 285 गाने तैयार किए हैं। इंडियन क्लासिकल और वेस्टर्न दोनों का कॉम्बिनेशन लिया है। भोपाल के लाेगाें की डिमांड गानों काे जल्दी-जल्दी बदलते रहने की होती है।

कंगन थीम पर डेकोरेशन..

22 साल से अभिव्यक्ति को डिजाइन कर रहे एमए अजीम ने बताया कि इस बार डिजाइन सैकड़ों साल पुराने कंगन से इंस्पायर्ड है। अभिव्यक्ति का पूरा पवेलियन इसी थीम के इर्द-गिर्द सजाया गया है। कंगन कोलकाता से आए कारीगरों ने तैयार किया है। डिजाइनिंग और डेकोरेशन में 60 से ज्यादा आर्टिस्ट की टीम है। जो कोलकाता, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और शिवपुरी से आए हैं। जो पूरे 1 महीने में तैयार किए गए थे।

तस्वीरों में देखिए गरबा की मस्ती

गरबोत्सव में काठियावाड़ी लुक में दोनों पार्टिसिपेंट्स ने खुद को तैयार किया। इस लुक की खासियत है कि इसमें साफा हैवी होता है। इसका वजन करीब 5 से 7 किलो तक का होता है।

गरबोत्सव में काठियावाड़ी लुक में दोनों पार्टिसिपेंट्स ने खुद को तैयार किया। इस लुक की खासियत है कि इसमें साफा हैवी होता है। इसका वजन करीब 5 से 7 किलो तक का होता है।

पार्टिसिपेंट ने पॉम-पॉम और कठपुतली फ्रॉक के साथ गरबा किया। इस लुक में पार्टिसिपेंट ने राजस्थान और गुजराती लुक को मिक्स किया है।

पार्टिसिपेंट ने पॉम-पॉम और कठपुतली फ्रॉक के साथ गरबा किया। इस लुक में पार्टिसिपेंट ने राजस्थान और गुजराती लुक को मिक्स किया है।

USA के अटलांटा से भोपाल आई पार्टिसिपेंट ने गरबा किया। उन्होंने बताया कि यूएसए में भी गरबा करती थी, लेकिन भोपाल के ‘अभिव्यक्ति’ गरबा महोत्सव जैसा कहीं नहीं देखने को मिला।

USA के अटलांटा से भोपाल आई पार्टिसिपेंट ने गरबा किया। उन्होंने बताया कि यूएसए में भी गरबा करती थी, लेकिन भोपाल के ‘अभिव्यक्ति’ गरबा महोत्सव जैसा कहीं नहीं देखने को मिला।

गरबा महोत्सव में राजपूतानी लुक में पार्टिसिपेंट में डांडिया किया। पार्टिसिपेंट ने राजस्थान में पहने जाने वाली राजपूतानी पैटर्न पर सीधे पल्लू की साड़ी पहनी थी।

गरबा महोत्सव में राजपूतानी लुक में पार्टिसिपेंट में डांडिया किया। पार्टिसिपेंट ने राजस्थान में पहने जाने वाली राजपूतानी पैटर्न पर सीधे पल्लू की साड़ी पहनी थी।

गरबोत्सव में पार्टिसिपेंट ने काठियावाड़ के साथ गुजराती लुक में परफॉर्मेंस दी।

गरबोत्सव में पार्टिसिपेंट ने काठियावाड़ के साथ गुजराती लुक में परफॉर्मेंस दी।

गरबोत्सव में पब्लिक सर्कल में धूम साउंड के धमाकेदार गानों की धुन पर लोगों ने जमकर एंजॉय किया। इतनी भीड़ थी कि पैर रखने की भी जगह नहीं मिली।

गरबोत्सव में पब्लिक सर्कल में धूम साउंड के धमाकेदार गानों की धुन पर लोगों ने जमकर एंजॉय किया। इतनी भीड़ थी कि पैर रखने की भी जगह नहीं मिली।

गरबोत्सव में इस बार टैटू की भी लगाए गए हैं। लोग टैटू बनवाने के लिए भी एक्साइटेड रहे।

गरबोत्सव में इस बार टैटू की भी लगाए गए हैं। लोग टैटू बनवाने के लिए भी एक्साइटेड रहे।

गरबोत्सव में भक्त की मां की आराधना में डूबे हैं। गरबा में एक पार्टिसिपेंट ने सिर पर मां की तस्वीर लेकर गरबा किया।

गरबोत्सव में भक्त की मां की आराधना में डूबे हैं। गरबा में एक पार्टिसिपेंट ने सिर पर मां की तस्वीर लेकर गरबा किया।

पहली बार रेल वायर इंटरनेट ने शुरू किया फ्री वाईफाई जोन

अभिव्यक्ति गरबा के चौथे दिन विशेष सुविधा की शुरुआत हुई। भीड़ हो जाने के कारण लोगों को नेटवर्क में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। इसका हल निकाल लिया गया है। सेंट्रल गवर्नमेंट के रेल वायर इंटरनेट की सेवा शुरू हो चुकी है। पहले ही दिन करीब 5000 लोगों ने फ्री वाईफाई यूज़ किया। इसमें बस मोबाइल पर ओटीपी आता है, जो सिक्योरिटी के लिए जरूरी है। ओटीपी से कनेक्ट होते ही फ्री वाईफाई शुरू कर दिया जाता है।

गरबोत्सव में लोगों को भीड़ होने से मोबाइल के इंटरनेट कनेक्शन गड़बड़ा गए। इसे ध्यान में रखते हुए वाईफाई जोन बनाया गया। यहां रेलवे ने मुफ्त इंटरनेट उपलब्ध करवाया।

गरबोत्सव में लोगों को भीड़ होने से मोबाइल के इंटरनेट कनेक्शन गड़बड़ा गए। इसे ध्यान में रखते हुए वाईफाई जोन बनाया गया। यहां रेलवे ने मुफ्त इंटरनेट उपलब्ध करवाया।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!