नपा अध्यक्ष चयन से पहले पार्षदों की बाड़ाबंदी: बोरावां पहुंचे नेपानगर नगर पालिका से चुनाव जीते 12 कांग्रेसी पार्षद, तीर्थ दर्शन पर जाने की तैयारी


Hindi NewsLocalMpBurhanpur12 Congress Councilors Won The Election From Nepanagar Municipality Reached Boravan, Preparing To Go On Pilgrimage

बुरहानपुर (म.प्र.)38 मिनट पहले

नेपानगर नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस को 12, भाजपा को 10 सीटें मिली। 2 निर्दलीय चुनाव जीतकर आए। खास बात यह रही कि 30 सितंबर को जैसे चुनाव परिणाम सामने आए कांग्रेस ने अपने पार्षदों को कब्जे में कर लिया। शाम में ही परिवार सहित पार्षदों को सीधे पूर्व केंद्रीय मंत्री अरूण यादव के गृह ग्राम बोरावां ले जाया गया। जहां से वह तीर्थ दर्शन पर जाएंगे।

कांग्रेस की अेार से अधिकृत प्रत्याशी भारती विनोद पाटिल हैं। पार्टी को इस बार 12 वार्डों से जीत मिली है। अध्यक्ष का चयन करने के लिए केवल एक पार्षद की जरूरत है। कांग्रेस निर्दलीयों पर डोरे डाल रही है, लेकिन जो निर्दलीय जीते हें वह भाजपा समर्थित हैं।

भाजपा में अध्यक्ष पद के 3 दावेदार

इधर भाजपा में भी नपाध्यक्ष की जोड़ तोड़ चल रही है। नपाध्यक्ष के लिए 3 दावेदार हैं। जिसमें चंचला विजय यादव, मीना चौहान, वैशाली पाटिल का नाम है। बताया जा रहा है कि भाजपा में दो गुट कुछ पार्षदों को अपने साथ लेकर शहर से बाहर हैं।

निर्दलियों की बढ़ी कीमत

नगर के 24 वार्डों में से 12 पर कांग्रेस, 10 पर भाजपा जीती। कुल 22 वार्ड कांग्रेस भाजपा की झोली में गए हैं। जबकि दो निर्दलीय जीते। जिसके बाद निर्दलियों की कीमत बढ़ गई है। कांग्रेस को अपना अध्यक्ष बनाने के लिए केवल एक तो भाजपा को 3 पार्षदों की जरूरत है।

जिसमें दो निर्दलीयों को पार्टी मनाने का प्रयास कर सकती है, लेकिन निर्दलीय प्रत्याशी सरला प्रवीण काटकर, बसंती बाई उईके को पार्टी ने निष्कासित कर दिया था। ऐसे में वह आसानी से वापस भाजपा में चले जाएंगे यह तय नहीं है।

यह है नियम-

-नियमानुसार चुनाव के बाद 15 दिन के भीतर अध्यक्ष की चयन प्रक्रिया की जाती है। बताया जा रहा है कि जो पार्षद शहर से चले गए हैं वह अब सीधे अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान ही वोटिंग के समय शहर वापस लौटेंगे।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!