विदिशा में बारिश का दौर जारी: कभी रिमझिम तो कभी तेज बारिश, फसल खराब होने की आशंका

विदिशा5 घंटे पहले

विदिशा में बुधवार से शुरू हुई बारिश का दौर गुरुवार को भी जारी रहा। कभी तेज तो कभी धीरे बारिश के चलते जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। कई इलाकों में जल भराव हो गया था, जिसके चलते लोगो को परेशानी का सामना करना पडा। वहीं इस बारिश के चलते किसानो की नींद उड़ा दी है।

जिले में बुधवार से बारिश का दौर जारी है। इससे जिले के किसानों की नींद उड़ गई है। जिले में कई किसानों के खेतों में सोयाबीन की फसल कटी पड़ी हुई है, वहीं कई किसान खेतों में पकी खड़ी फसल कटाई की तैयारी में थे। ऐसे में हुई इस बारिश से जिले के किसानों का भारी नुकसान होने की आशंका है। बुधवार को बारिश के चलते दशहरा पर्व की रौनक को फीका कर दिया था। बारिश से सागर पुलिया का अंडरब्रिज पूरी तरह से बंद हो गया है। सौंठिया फाटक बनाए गए अंडरब्रिज में पानी भरने के चलते रात में यहां से आवाजाही बंद हो गई थी। जिससे दिन में हजारों लोग परेशान होते नजर आए।

विदिशा में सबसे ज्यादा गुलाबगंज में सबसे कम

विदिशा जिले में अब तक 1553.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज हो चुकी है, जबकि जिले की सामान्य औसत वर्षा 1075.5 मिमी है। जिले की तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रो पर गुरुवार छह अगस्त को दर्ज की गई वर्षा की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि जिले में 15.8 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है।

अधीक्षक भू-अभिलेख राजेश राम ने बताया कि गुरुवार को जिले में तहसीलवार दर्ज की गई वर्षा विदिशा में 62 मिमी, बासौदा में 19.6 मिमी, सिरोंज में चार मिमी, लटेरी में छह मिमी, ग्यारसपुर में 31 मिमी, गुलाबगंज में 10 मिमी, नटेरन में 13 मिमी, शमशाबाद एवं पठारी तहसील में क्रमशः छह-छह मिमी वर्षा दर्ज हुई है। कुरवाई तहसील में वर्षा नगण्य रही।

बारिश जारी रहने का अनुमान

सीहोर के मौसम विशेषज्ञ एसएस तोमर ने पूर्व में ही जिले में 5 से 7 अक्टूबर के दौरान 80 से 100 एमएम तक की भारी बारिश होने का अलर्ट जारी कर दिया था। इस दौरान हवा की गति 15 से 16 किमी प्रति घंटे रहने, बादलों की गर्जना और बिजलियां अधिक संख्या में गिरने की भी संभावना जताई गई थी।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!