जलभराव की समस्या: जलभराव से रतनूपुरा रोड बनी तालाब, एलटी लाइन भी सड़क पर झूल रही, आए दिन हादसे

Hindi NewsLocalMpBhindRatnupura Road Became Pond Due To Waterlogging, LT Line Was Also Swinging On The Road, Accidents Came Every Day

भिंड33 मिनट पहले

कॉपी लिंक

शहर के वार्ड क्रमांक 35 के रतनूपुरा रोड पर रहने वाले लोगों को पिछले डेढ़ साल से जलभराव की समस्या से जूझना पड़ रहा है जिससे वे परेशान हैं। जलभराव होने के कारण जहां एक ओर सड़क तालाब में तब्दील हो चुकी है। वहीं दूसरी ओर बीमारियां फैलने की आशंका रहने लगी है। इसके अलावा रोड के ऊपर से निकली बिजली की एलटी लाइन काफी नीचे होने से आए दिन ट्रक उससे टकरा रहे हैं। लोग इन समस्याओं के समाधान के लिए नगर पालिका और बिजली कंपनी अधिकारियों को कई बार अवगत करा चुके हैं, लेकिन अब तक हालात जैसे के तैसे बने हुए हैं।

रतनुपुरा रोड निवासी आरआर राठौर,बदन सिंह बघेल आदि ने कहा कि अधिकारियों से समस्या के समाधान कराने की गुहार करते-करते थक गए हैं। वहीं जलभराव को लेकर लोगों में नगर पालिका के खिलाफ आक्रोश पनप रहा है। इस समस्या के चलते वे काफी परेशान हो चुके हैं। अधिकारियों तक बात पहुंचाई फिर भी नहीं सुनी गई है। लोग परेशान हो रहे हैँ। लोगों का कहना है कि प्रशासन को शायद किसी बड़े हादसे का इंतजार है।

दो साल से झूल रही है एलटी लाइनतहसीलदार सिंह बताते हैं कि रतनुपुरा रोड पर पिछले दो साल से बिजली की एलटी लाइन काफी नीचे लटक रही है। रोड किनारे फल मंडी होने से यहां पर रोजाना फलों से भरे ट्रक सहित अन्य लोडिंग वाहन आते हैं। तार नीचे होने की वजह से लोडिंग वाहन तारों से टकरा जाते हैं, अभी तक गनीमत यह रही है कि वाहनों के तारों से टकरा जाने से कोई गंभीर हादसा नहीं हुआ है। बिजली कंपनी में कई बार शिकायत दर्ज कराने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं कराया गया है।

जलभराव से निकलना मुश्किलसुनील बघेल बताते हैं किे जलभराव की समस्या के चलते रोड किनारे रहने वाले हम लोगों का आवागमन करना मुश्किल हो रहा है। महिलाओं व बच्चों को सर्वाधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बच्चों का खेलना कूदना पूरी तरह से बंद हो गया है। वाहनों से आना जाना में भी इनके उलटने पलटने और लोगों के घायल होने का अंदेशा रहने लगा है। हालात यह हैं कि घरों से पैदल निकलकर भी मुख्य मार्ग तक पहुंचना मुश्किल हो रहा है।

बारिश में और बढ़ जाती है परेशानीरतनूपुरा रोड निवासी नरेंद्र सिंह का कहना है कि जलभराव की समस्या को लेकर पिछले डेढ़ साल से जूझ रहे हैं। बारिश होने पर सड़क पर पानी दो से तीन फीट तक भर जाता है। रोड किनारे नालियां नहीं होने से पानी की निकासी नहीं हो पाती है। जिससे घरों से निकाले वाला पानी और बारिश का पानी सड़क पर ही भरा रहता है। इन दिनों रोड पर जगह-जगह पानी भरा होने से उसमें मच्छर पनप रहे हैं। जिससे अब लोगों को बीमारियां फैलने का डर भी सताने लगा है। स्थानीय लोगों कई बार अधिकारियों को अवगत कराया फिर भी समस्या जस की तस बनी हुई है।

समस्या का समाधान किया जाएगा

“रतनूपुरा रोड पर जलभराव समस्या की मुझे जानकारी है। वहां पर जलभराव की समस्या का समाधान जल्द कराया जाएगा। बिजली के तारों की ऊंचाई बढ़ाने के लिए बिजली कंपनी अधिकाधिकारियों से चर्चा की जाएगी।”वर्षा वाल्मीकि, नपाध्यक्ष, भिंड

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!