बालाघाट में माता के विसर्जन का दौर शुरू: डांडिया के साथ गुजराती समाज ने किया प्रतिमा के विसर्जन का अनूठा आयोजन

बालाघाट33 मिनट पहले

बालाघाट में कच्छ गुजरती समाज द्वारा स्थानीय अंबिका राइस मिल परिसर में लगभग 74 वर्षों से दुर्गा प्रतिमा के साथ डांडिया उत्सव भी मनाया जाता है | नगर की सबसे प्राचीन दुर्गौत्सव एवं डांडिया समिति में नई पीढ़ी के युवाओं ने अब इस उत्सव को पहले से भव्य रूप में मानना प्रारंभ किया है। प्रतिमा का विसर्जन बीती रात्रि में डांडिया गरबा की प्रस्तुति के साथ विसर्जन यात्रा निकाली गई। यह डांडिया नृत्य के साथ मां की भक्ति में माता-बहनों, एवं भाइयों का उत्साह देखते ही बन रहा था। प्रतिमा विसर्जन की यह अनूठी परंपरा नगर में प्रथम बार देखने को मिली जो आकर्षण का केंद्र जन मानस बन गई। समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि अगला पर्व 75वां दुर्गा उत्सव का होगा। जिसके लिए अभी से तैयारियां शुरू की जाएंगी।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!