सागर में पुलिस आरक्षक को पीटा: उत्पात मचा रहे युवक को रोका तो गालीगलौज कर आरक्षक से की मारपीट, बड़े भाई ने ट्रांसफर कराने की दी धमकी

Hindi NewsLocalMpSagarIf The Young Man Who Was Creating A Ruckus Was Stopped, He Abused The Constable, The Elder Brother Threatened To Transfer

सागर3 घंटे पहले

कॉपी लिंकमहाराजपुर पुलिस थाना। - Dainik Bhaskar

महाराजपुर पुलिस थाना।

सागर के महाराजपुर थाना के आरक्षक के साथ मारपीट की गई है। घटना दुर्गा विसर्जन चल समारोह के समय हुई। ट्राली पर खड़े होकर उत्पात मचा रहे युवक को पुलिस जवान ने रोका तो उसने गालीगलौज शुरू कर दी। विरोध करने पर आरक्षक के साथ मारपीट की। इतना ही आरोपी के बड़े भाई ने फोन लगाकर आरक्षक को ट्रांसफर कराने की धमकी दे डाली। आरक्षक की शिकायत पर महाराजपुर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। घटना गुरुवार रात की है।

पुलिस के अनुसार शिकायत में आरक्षक अजय मालवीय ने बताया कि 6 अक्टूबर को दुर्गा विसर्जन और साप्ताहिक बाजार व्यवस्था में महाराजपुर मुख्य सड़क पर लालू सोधिया की दुकान के पास ड्यूटी पाइंट पर खड़ा था। साथ में ग्राम रक्षा समिति सदस्य लक्ष्मन रैकवार था। मैं ट्राफिक सुचारु करवा रहा था। तभी एक ट्रैक्टर आकर मुख्य मार्ग पर खड़ा हो गया। जिसकी ट्राली की पट्टी के ऊपर खड़ा होकर एक युवक नाच कर उत्पात मचा रहा था। जिससे आने-जाने वाले लोग निकल नहीं पा रहे थे और ट्रैफिक जाम हो रहा था।

उसके पास जाकर देखा तो उक्त युवक अनूप टिकरया निवासी शांतिनगर महाराजपुर था। अनूप को हुड़दंग मचाने से रोका और ट्रैक्टर आगे बढ़ाने का कहा। इसी बात पर अनूप ने आक्रोश में आकर गालीगलौज शुरू कर दी। गाली देने से मना किया तो वह ट्राली से कूंदा और मारपीट करने लगा। मारपीट होते देख लक्ष्मन ने थाने में सूचना दी। जिसके बाद अन्य पुलिसकर्मियों ने मौके पर पहुंचकर बीचबचाव कर मामला शांत कराया। इसी दौरान भीड़ का फायदा उठाकर अनूप मौके से भाग गया।अनूप के भाई ने फोन लगाकर धमकायाआरक्षक ने शिकायत में बताया कि घटनाक्रम के बाद अनूप टिकरया के बड़े भाई अंकू उर्फ अंकित उर्फ अंकुर टिकरया ने लक्ष्मन रैकवार के मोबाइल पर फोन लगाया और बात की। मैंने बात की तो उसने फोन पर गालीगलौज की। उसने ट्रांसफर कराने की धमकी दी। जिसकी आरक्षक के पास रिकॉर्डिंग है। मामले में महाराजपुर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!