छतरपुर में बेटे ने ही की पिता की हत्या: प्रधानमंत्री आवास के रूपयों को लेकर पिता को जान से मारा, पंचायत में कुबूला जुर्म

छतरपुरएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

छतरपुर जिले के हरपालपुर में एक बेटे ने अपने पिता की हत्या करने का जुर्म भरी पंचायत में कबूल किया। इतना ही नहीं पुत्र ने जुआ की लत के चलते पीएम आवास की क़िस्त के रूपयों के लिए पिता की खेत पर फसल की रखवाली करते समय रात को लाठी डंडों से पीटकर हत्या करना की बात पंचों के सामने कही। वहीं गांव के सेन समाज के लोगों आरोपी पुत्र के बाल काटने से मना कर उसका बहिष्कार किया है। मामला हरपालपुर थाना क्षेत्र के सरसेड़ गांव का है। जहां आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर है।

यह है मामला

सरसेड़ गांव में बुधवार-गुरुवार रात 70 वर्षीय किसान नन्नू कोरी की हत्या उस समय हो गई। जब वो खेत पर फसल की रखवाली के लिए सो रहा था। अज्ञात आरोपियों द्वारा लाठी डंडों से पीटकर बुजुर्ग की हत्या कर दी। गुरुवार सुबह हत्या की जानकारी मृतक के नाती राजू द्वारा थाना पुलिस सूचना देने पर थाना पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर मर्ग कायम कर पंचनामा बनाकर जांच शुरू कर दी थी। मामला गंभीर होने मौके पर एफएसएल टीम मौके पर पहुंची।

ग्रामीणों ने बुलाई पंचयात

वहीं, हत्या के दूसरे सरसेड़ गांव के ग्रामीणों द्वारा गांव हटवारा में पंचायत बुलाई। जिसमें सभी वर्गों के ग्रामीण शामिल हुए। दोपहर 12 बजे बुलाई गई पंचायत में रमेश पटैरिया, जितेंद सेंगर, भइया राजा, बाबू बाल्मीकि सहित एक सैकड़ा से अधिक ग्रामीण पंचायत में शामिल हुए। जहां भरी पंचायत में पंचों ने पिता की हत्या के बारे में मुकेश कोरी से पूछा तो उसने अपने पिता नन्नू कोरी की लाठी डंडों से पीटकर हत्या करना कबूल किया। भरी पंचायत में मुकेश ने बताया कि पिता को पीएम आवास निर्माण के लिए किस्त के रुपए मिले थे। वो रुपए उसका पिता बार बार मांगने पर नहीं दे रहा है। इसी बात को लेकर उस ने दशहरा की रात खेत पर सो रहे। अपने पिता पर लाठी-डंडों के कई वार किए। उसको तड़पता छोड़कर घर आ गया। सुबह उसका पुत्र खेत पर गया तो उसने बताया कि उसके दादा को किसी ने मारा है, उनकी लाश खेत पर पड़ी है। उसके बाद उस ने इस सूचना पुलिस थाने को दी।

मामले में जांच जारी

फिलहाल इस हत्या के मामले में थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। आगे की कार्रवाई के लिए पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। मामले में थाना प्रभारी टीआई धर्मेंद्र सिंह का कहना है कि गांव में पंचायत बुलाई गई। मुझे जानकारी नहीं है, इस बारे में जानकारी करते हैं। हालांकि अभी किसी को हत्या के आरोप में हिरासत में नहीं लिया गया है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!