महाकाल लोक लोकार्पण: बैतूल के 42 मंदिरों में होगा सीधा प्रसारण, 242 लोगो को भेजा न्यौता

बैतूल29 मिनट पहले

कॉपी लिंक

11 अक्टूबर को उज्जैन में आयोजित महाकाल मंदिर से पीएम के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण जिले के 42 मंदिरों में किया जाएगा। इसके लिए राज्य शासन ने सभी कलेक्टर्स को निर्देश जारी किए है। इसी के तहत जिले में सभी एसडीएम को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रशासन ने सभी मंदिर समितियों से इस बारे में संपर्क किया है। इसके अलावा महाकाल लोक के प्रथम चरण के लोकार्पण के लिए बैतूल में 242 लोगो को न्योता भेजा गया है। इनमे गणमान्य नागरिक ,समाजसेवी,व्यापारी ,अधिकारी शामिल है।

यह दिए गए निर्देश

सभी शासकीय मंदिरों में सायंकाल 5.00 बजे आमजन के सहयोग से दीपों के प्रज्वलन, पूजा – अर्चना तथा कीर्तन इत्यादि का कार्यक्रम आयोजित किया जाए, जिसमें आस-पास के श्रद्धालु सम्मिलित हों। मंदिर प्रागंण और उसके पास किसी यथोचित स्थान पर टीवी स्क्रीन की व्यवस्था की जाए ताकि महाकाल मंदिर से संबंधित प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण उपस्थित जनसमूह देख सके। इस व्यवस्था में मंदिर प्रबंधन समितियों, जन प्रतिनिधियों एवं आमजन का आवश्यक सहयोग लिया जाए। ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में स्थित सार्वजनिक मंदिरों की साफ सफाई संबंधित प्रबंधन समितियों एवं पुजारियों के सहयोग से की जाए।

इन मंदिरों में होंगे कार्यक्रम

बैतूल अनुविभाग में दस मंदिरों में कार्यक्रम के सीधे प्रसारण को देखने की व्यवस्था की जा रही है। इनमे दुर्गा मंदिर कोठीबाजार , हनुमान जी मंदिर अखाड़ा टिकारी, राम मंदिर कोठीबाजार , कृष्ण मंदिर कोठीबाजार, बिजासनी माता मंदिर गंज, शनि मंदिर बैतूल गंज, हनुमान मंदिर रामनगर बैतूल, बालाजीपुरम बैतूल बाजार, शीतला माता मंदिर चिचोली, मां चंडी दरबार मंदिर गोधना, शाहपुर क्षेत्र में श्री राममंदिर शाहपुर और मठारदेव मंदिर सारणी, शंकर मंदिर भौरा में सीधे प्रसारण की व्यवस्था की गई है।

मुलताई अनुविभाग में इसके लिए महावीर मंदिर बरखेड़, मां बमलेश्वरी मंदिर दूनाई, रामचंद्र मंदिर दुनावा, महादेव मंदिर मुलताई, गायत्री शक्तिपीठ मुलताई, मां ताप्ती मंदिर मुलताई, श्री जगदीश मंदिर मुलताई, श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर मुलताई, श्री तपेश्वर महादेव मंदिर मुलताई, श्री गजानन मंदिर मुलताई, मां दुर्गा मंदिर बस स्टैंड मुलताई, श्री जगन्नाथ मंदिर करपा, श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर गागई, महादेव मंदिर सोनेगांव, श्री शंकर मंदिर चंदोरा खुर्द, मां ताप्ती मंदिर मुलताई, शिव मंदिर सालबर्डी ,श्री राम मंदिर दुनावा, एवं छावल स्तिथ मंदिर में व्यवस्था की जाएगी।

जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित मंदिरों में भैसदेही और आठनेर क्षेत्र के 13 मंदिरों में भी महाकाल लोक के लोकार्पण को श्रद्धालु देख सकेंगे। क्षेत्र के हनुमान मंदिर केरपानी, बारलिंग मंदिर बारहलिंग, रेणुका मंदिर धामनगांव, देवी मंदिर भैंसदेही, प्राचीन शिव मंदिर भैंसदेही, शीतला माता मंदिर भैंसदेही, देवी मंदिर बाजार चौक भैंसदेही, अम्बा माई मंदिर आठनेर, दुर्गा माता मंदिर सातनेर, बजरंग मंदिर भीमपुर, गुरुसाहब मंदिर रतनपुर, घोघराघाट ताप्ती मंदिर घोघरा, देवलघाट प्राचीन शिव मंदिर को जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित किया है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!