राजगढ़ जिले में भूकंप के तीन झटके: लोग घरों से बाहर आए, बर्तन गिरे; वैज्ञानिक बोले- अत्यधिक बारिश कारण प्लेट खिसकी

सारंगपुर27 मिनट पहले

कॉपी लिंक

सारंगपुर के हराना गांव में शाम 6:17 मिनट पर भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। लोग दहशत के कारण घरों से बाहर आ गए। कुछ लोगों का दावा है कि उनके घरों के बर्तन गिर गए। कंपन के साथ जमीन से तेज आवाज आने की वजह से लोगों में डर बना रहा। कुछ देर में तीन बार कंपन के बाद लोग बहुत देर तक घरों से बाहर आ गए।

जमीन में हुई हलचल के बाद हराना गांव के लोग दहशत में हैं। रविवार शाम को अचानक तीन झटके आए। झटके के साथ में तेज गर्जना जैसी आवाज भी ग्रामीणों को सुनाई दी। शाम करीब 6 बजकर 17 मिनट पर तेज आवाज के साथ पहला झटका लगा। जिसके बाद दो तीन मिनट के अंतराल में दो और झटके महसूस हुए। ग्रामीण रामविलास पटेल, फूलसिंह भंडारी, मुकेश नागर, मोहन नागर, हरिओम नागर का कहना है कि यह झटके घर में और बाहर खुली जमीन पर भी महसूस हुए। हालांकि इन झटकों से किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ। पिछले कुछ समय की बात करें तो इस तरह के झटके छायन पंचायत के एक गांव में भी सुनाई दिए थे।

हम सेफ जोन में हैं

राजगढ़ के भू वैज्ञानिक रामगोपाल नागर ने बताया कि अत्यधिक बारिश के कारण जब जमीन में अंदरूनी सतहों की रिक्त जगह में पानी का तेज गति से रिसाव होता है तो उसमें मलवा भी जाता है। ऐसे में कभी कभी हल्की से प्लेट खिसकती है, जिसके कारण कंपन महसूस होता है। ऐसी घटनाएं पहले भी उदनखेड़ी के समीप छापरा गांव में, दो माह पहले छगोडा छायन गांव में हुई थी। हमारा मालवा क्षेत्र भूकंप क्षेत्र नहीं है, हम सेफ जोन में हैं। यह मामूली घटना है। लोगों को ऐसी घटनाओं से दहशत में नहीं आना चाहिए।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!