शरद पूर्णिमा आज: नर्मदा में हजारों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, रात में महाआरती, घरों में बनेगी खीर

शरद पूर्णिमा आज37 मिनट पहले

आज रविवार को देशभर में शरद पूर्णिमा पर्व मनाया जा रहा है। नर्मदापुरम में भी नर्मदा घाटों पर श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है। हजारों श्रद्धालुओं ने नर्मदा में स्नान और घाटों पर बने मंदिरों में भी पूजन की जा रही। शाम को सूर्यास्त होते ही नर्मदा में महिलाएं दीपदान करेंगी। रात सेठानी घाट पर नर्मदा की महाआरती होगी।

शरद पूर्णिमा के मौके पर तड़के 5 बजे से ही श्रद्धालु स्नान करने पहुंचने लगे। स्थानीय के अलावा इटारसी, बैतूल, भोपाल, हरदा, विदिशा समेत कई शहरों से श्रद्धाुओं नर्मदा में आस्था की डुबकी लगाने और पूजनठ करने पहुंचे। घाटों पर भगवान सत्यनारायण की पूजन अर्चन और कथा कराई। श्रद्धालुओं ने अपने परिवारों के साथ धार्मिक कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

मंदिर और घरों में बनेगी खीर

प्राचीन मान्यताओं के चलते शरद पूर्णिमा पर चंद्रमा से अमृत बरसता है। इसलिए रात में खुले आसमान के नीचे दूध से बने हुए पेय पदार्थ को रखने का रिवाज है। जिसमें मुख्य रुप से खीर बना कर रखी जाती है। शरद पूर्णिमा के अवसर घर व मंदिरों में बनाई जाती है। खीर रात में रखकर उसकी प्रसादी बांटी जाती है।

पुलिस और होमगार्ड जवान तैनात

नर्मदा के सेठानी घाट, कोरी घाट, पर्यटन घाट, परमहंस घाट, मंगलवारा, बांद्राभान खर्राघाट पर पुलिस और होमगार्ड के जवान सुरक्षा की दृष्टि से सुबह से मौजूद है। गहरे पानी में नहाने जाने से श्रद्धालुओं को रोका जा रहा।

कार्तिक स्नान आज से शुरू

कार्तिक माह में पूरे महीने भर चंद्रमा की रोशनी में ब्रह्म मुहुर्त में नर्मदा में स्नान का विशेष धार्मिक महत्व है। इसी के चलते शहर के सभी प्रमुख घाटों पर सुबह से ही स्नान का क्रम शुरु हो गया है। पुजारियों के अनुसार कार्तिक माह में सुबह सूर्यादय के पूर्व और चंद्रमा की मौजूदगी में नर्मदा में स्नान करने से घर में सुख समृद्धि आती है। जो व्यक्ति पूरे माह कार्तिक स्नान करते हैं उनकी मनोकामना तो पूरी होती ही है। वहीं सभी पाप भी नष्ट हो जाते हेैं।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!