शव वाहन के लिए करना पड़ा 2 घंटे का इंतजार!: बिछुआ नगर परिषद में सामने आई लापरवाही, अर्थी लेकर गिरते पानी में सडक़ पर बैठे रहे परिजन, 2 घंटे बाद आया वाहन!

Hindi NewsLocalMpChhindwaraNegligence Surfaced In Nettle City Council, Family Members Sitting On The Road In Falling Water With A Meaning, Vehicle Came After 2 Hours!

छिंदवाड़ाएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

नगर परिषद बिछुआ में शव को मोक्षधाम तक ले जाने की लिए लोगों की सुविधा को ध्यान में रखकर लाखों रूपए खर्च कर शव वाहन खरीदा गया है लेकिन बता दे कि शव वाहन के लिए लोगों को 2 से 3 घंटे तक इंतजार करना पड़ रहा है।

कुछ ऐसा ही मामला बिछुआ नगर में मंगलवार को सामने आया जहां पर शव वाहन के इंतजार में एक परिवार 2 घंटे तक सडक़ पर शव लेकर बैठा रहा लेकिन शव वाहन काफी देर से पहुंचा जिसके कारण उन्हे काफी परेशानी उठानी पड़ी।

सिस्टम को चिढ़ाती यह तस्वीर है यहां रहने वाले बटटी परिवार की। दरअसल कलीराम बटटी उम्र 50 साल की बीमारी के चलते आज उसके घर में ही मौत हो गई थी, जिसके बाद उसके परिजनों ने शाम 4 बजे अंतिम संस्कार करने के लिए नगर परिषद से संपर्क किया।

वह शव वाहन को पहुंचा दे, बकायदा परिवार जनों ने अर्थी सजाकर घर के बाहर लेकर आ गए लेकिन शव वाहन को आते आते 2 घंटे का समय बीत गया, यहां तक कि बारिश में शव भीगता रहा। बाद में 2 घंटे बाद शव वाहन पहुंचा तब कहीं जाकर उन्होंने अपने परिजनों का अंतिम संस्कार कर पाए।

2 किमी है मोक्षधाम

बताया जा रहा है कि बिछुआ का मोक्षधाम 2 किमी दूर है, ऐसे में अक्सर शव को ले जाने के लिए शव वाहन की जरूरत पड़ती है, लेकिन यहां पर अक्सर शव वाहन समय पर नहीं पहुंच पाता और लोग परेशान होते रहते है।

नगर परिषद उपाध्यक्ष बोले- झूठी है कहानी

इस सबंध में नगर परिषद के उपाध्यक्ष मंगलेश दुबे का कहना है कि कलीराम बटटी के परिजनों को अंत्येष्ठि के लिए नगर परिषद के द्वारा 2500 रूपए चंदा एकत्रित कर दिया गया था। अर्थी टूटने के कारण उन्होंने शव वाहन बुलाया तब शव वाहन पहुंचा दिया गया।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!