आंदोलन में शामिल होने भोपाल रवाना हुए अतिथि शिक्षक: मंडी शेड में एकत्रित होकर की नारेबाजी, हड़ताल के चलते स्कूलों में पड़ेगा असर, नहीं खुलेंगे स्कूलों के ताले

सेंधवा33 मिनट पहले

नियमितिकरण और समान कार्य समान वेतन की मांग को लेकर अतिथि शिक्षक हड़ताल पर चले गए हैं। अतिथि शिक्षक भोपाल में अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री और सरकार के ध्यानाकर्षण को लेकर बुधवार से नीलम पार्क में आंदोलन करेंगे।

मंगलवार देर रात को सेंधवा ब्लॉक और पानसेमल ब्लॉक के बड़ी संख्या में अतिथि शिक्षक भोपाल के लिए रवाना हुए। इससे पहले सभी अतिथि शिक्षक शहर के किला परिसर स्थित मंडी शहर में एकत्रित हुए यहां पर आंदोलन में क्या कुछ रणनीति रहेगी इसको लेकर चर्चाएं की गई।

इस दौरान अतिथि शिक्षकों के द्वारा जमकर नारेबाजी भी की गई। भोपाल आंदोलन में शामिल होने जा रहे हैं अतिथि शिक्षकों में कई महिला अतिथि शिक्षक भी शामिल है जो अपने छोटे-छोटे बच्चों को भी साथ ले जा रही है।

आजाद अतिथि शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष शंभू वालोके ने बताया कि ब्लॉक में कई ऐसे अतिथि शिक्षक है जो 12 से 15 सालों से शासकीय स्कूलों में काम कर रहे हैं। लेकिन सरकार उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। न्यूनतम वेतन में अतिथि शिक्षक काम करने को मजबूर है और वह वेतन भी उन्हें समय पर नहीं मिलता है।

कई सालों से नियमितीकरण और समान कार्य समान वेतन की मांग करते आ रहे हैं। लेकिन सरकार उनकी कोई सुनवाई नहीं कर रही है। इसलिए एक बार फिर अतिथि शिक्षकों ने आंदोलन की राह अपना ली है।

बुधवार से भोपाल के नीलम पार्क में अतिथि शिक्षक मुख्यमंत्री और सरकार के ध्यानाकर्षण को लेकर अनिश्चितकालीन आंदोलन करेंगे।इसमें सैकड़ों की संख्या में अतिथि शिक्षक शामिल होने के लिए मंगलवार रात्रि में रवाना हो रहे है।

अतिथि शिक्षकों के हड़ताल पर चले जाने से ब्लॉक क्षेत्र के शिक्षक विहीन स्कूल जो अतिथि शिक्षकों के भरोसे संचालित हो रहे थे। उन स्कूलों में अब ताले लग जाएंगे। स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य अंधकार में नजर आने लगा है। मंगलवार को अतिथि शिक्षकों ने स्कूलों का संचालन नहीं किया ऐसे में स्कूल पहुंचे बच्चों को स्कूलों में ताले लगे मिले थे।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!