एथेलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारंभ: शाजापुर और आगर जिले के 350 से ज्यादा स्टूडेंट्स लेंगे हिस्सा

शाजापुर (उज्जैन)38 मिनट पहले

कॉपी लिंक

स्थानीय दुपाड़ा रोड स्थित सरस्वती विद्या मंदिर में विद्या भारती की विभाग स्तरीय एथेलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ। प्रतियोगिता में शाजापुर और आगर जिले के 350 से अधिक विद्यार्थी एथेलेटिक्स की विभिन्न विधाओं में शिशु वर्ग, बाल वर्ग, किशोर वर्ग और तरुण वर्ग में अपना प्रदर्शन करेंगे। वहीं प्रथम आने वाले विद्यार्थी प्रांत स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल होंगे।

सरस्वती विद्या मंदिर में आयोजित प्रतियोगिताओं के उद्घाटन समारोह में अतिथि के रूप में जिला शिक्षा अधिकारी विवेक दुबे, विभाग कार्यवाह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शैलेंद्र सोनी, नारायण मल्डावदिया, अजय पोल, विपुल विडवाले, सुरेन्द्र जोशी मंचासीन रहे। अतिथियों ने मां सरस्वती प्रणव अक्षर और भारत मां की तस्वीर पर माल्यार्पण और दीप प्रज्ज्वलन कर की।

इस दौरान शिक्षा अधिकारी दुबे ने कहा कि स्वस्थ मन और स्वस्थ तन दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। यदि एक भी खराब है तो ना सफलता मिलेगी और ना विकास होगा। ऐसे में जरूरी है कि तन और मन दोनों स्वस्थ्य रहें इसको लेकर सतर्कता बरतें।

दुबे ने कहा कि विद्या भारती के माध्यम से भारत की युवा पीढ़ी सर्वांगीण विकास के साथ आगे बढ़ रही है, जिसमें खेलों की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। विद्या भारती से निकले खिलाड़ी देश और विदेश में उच्च कोटि का प्रदर्शन कर रहे हैं।

देश के विकास में विद्या भारती द्वारा संचालित सरस्वती विद्या मंदिर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। उन्होंने कहा कि खेल भावना के साथ अनुशासन के साथ सभी खिलाड़ी खेलें और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दें।

सोनी ने कहा कि 1952 में सरस्वती विद्या मंदिर की स्थापना के साथ ही देश की भावी पीढ़ी को तैयार करने के लिए जो नीति तय की गई उसमें खेलों का भी महत्वपूर्ण स्थान है। कुछ समय पहले खेलों को इतना महत्व नहीं दिया जाता था, लेकिन आज पारदर्शी चयन से उत्कृष्ट खिलाड़ी तैयार हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हम अपने खेलों में जीत के लिए खेलें, किसी को हराने के लिए नहीं और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा करें। प्रतिस्पर्धा सिर्फ खेल मैदान तक रहे। इस अवसर पर लीना भट्ट, भारती शर्मा, देवकरण शर्मा सहित विद्यार्थी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!