कर्मकांडीय विप्र परिषद ने सौंपा ज्ञापन: गोशालाओं में गोवंश की दुर्दशा सुधारने और उचित प्रबंध करने की मांग

नीमच16 मिनट पहले

कॉपी लिंक

गोशालाओं में गोवंश की दुर्दशा सुधारने व उचित प्रबंध करने की मांग को लेकर गुरुवार को कर्मकांडीय विप्र परिषद के सदस्यों ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन कलेक्टर प्रतिनिधि को सौंपा।

जिसमें बताया गया कि कर्मकांडीय विप्र परिषद नीमच द्वारा 9 अक्टूबर को गोपाल गोशाला लेवड़ा में गौ माता को चारा गुड़ आदि खिलाने और गोधन में लंपि वायरस के प्रकोप की शांति के लिए मंत्र जाप हवन आदि का आयोजन किया गया था।

जहां गो शाला में चार गाय मृत अवस्था में थी जिनकी मौत 3 दिन पूर्व हो गई थी और उनसे असहनीय दुर्गंध आ रही थी। कुछ गाय बीमार थी और चारा आदि नहीं खा रही थी। मृत पशु उठाने वाले वाहन को फोन लगाने पर भी वह मौके पर पशु उठाने तक नहीं पहुंचे वहीं गोशाला के अध्यक्ष व ग्राम पंचायत के सरपंच तक भी इस और कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

कर्मकांड विप्र परिषद ने ज्ञापन में मांग की है कि प्रत्येक गोशालाओं में नियमित रूप से गोधन का सेहत परीक्षण किया जाए।

एक पशु चिकित्सक की नियुक्ति आवश्यक रूप से की जाए, मृत पशु तत्काल उठाने वाले वाहनों की संख्या में वृद्धि की जाए, चारे की भरपूर व्यवस्था की जाए एवं बरसात धूप आदि से बचने के लिए पर्याप्त शेड की व्यवस्था गोशालाओं में की जाए।

ज्ञापन सौंपने के दौरान कर्मकांड विप्र परिषद के अध्यक्ष पंडित मालचंद शर्मा पंडित राधेश्याम उपाध्याय पंडित प्रेम प्रकाश गौड़ पंडित राम अवतार शर्मा पंडित रामेश्वर शर्मा पंडित घनश्याम शास्त्री सहित अन्य सदस्य मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!