गर्ल्स स्कूल बिल्डिंग की रिपेयरिंग का मामला: पीडब्ल्यूडी ने बिना टेंडर शुरू कराया काम; विधायक की नाराजगी के बाद रोका

टीकमगढ़8 मिनट पहले

गर्ल्स स्कूल की बिल्डिंग की रिपेयरिंग के लिए किए गए भूमिपूजन का फाइल फोटो।

शासकीय गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल की रिपेयरिंग के मामले ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को उलझा दिया है। कुछ दिन पहले विधायक राकेश गिरी गोस्वामी ने गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल की मरम्मत के लिए 58 लाख रुपए के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया था। पीडब्ल्यूडी ने रिपेयरिंग के निर्देश भी कर दिए थे, लेकिन नियम अनुसार टेंडर जारी नहीं किए।

इस बारे में जब विधायक को पता चला तो उन्होंने नाराजगी जताई। अब पीडब्ल्यूडी ने टेंडर निकालने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पीडब्ल्यूडी ईई आरके विश्वकर्मा का कहना है कि छात्राओं की सुरक्षा को देखते हुए मरम्मत का काम शुरू करा दिया गया था, इसमें नियमों की अनदेखी वाली कोई बात नहीं है। निर्माण कार्यों के लिए तो विधिवत टेंडर ही लगाया जाएगा। उसके बाद ही निर्माण कार्य शुरू होगा। हालांकि इस प्रक्रिया में काम शुरू होने में कुछ देर हो सकती है।

क्या है पूरा मामला

गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल की कक्षाएं नजरबाग परिसर में बनी राजशाही दौर की पुरानी बिल्डिंग में लग रही थी। शिक्षा विभाग ने बिल्डिंग की मरम्मत नहीं कराई और धीरे-धीरे वह खस्ताहाल हो गई। इसके बाद गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल को आईटीआई की खाली पड़ी बिल्डिंग में शिफ्ट कर दिया गया, लेकिन आईटीआई की बिल्डिंग भी काफी पुरानी है। वहां भी क्लास रूम के ऊपर लगी सीमेंट शीट गिरने से हादसे हो चुके हैं। इसको देखते हुए लोक शिक्षण संचालनालय ने 26 लाख 22 हजार रुपए और कलेक्टर सुभाष कुमार द्विवेदी ने खनिज निधि से 35 लाख रुपए रिपेयरिंग के लिए स्वीकृत किए थे। राशि स्वीकृत होने के बाद एक सप्ताह पहले विधायक राकेश गिरी ने रिपेयरिंग और नए भवन निर्माण के लिए भूमिपूजन किया था।

पुरानी बिल्डिंग की रिपेयरिंग का काम अटका

करीब 50 सालों तक नजरबाग स्थित राजशाही दौर में बनी बिल्डिंग में गर्ल्स स्कूल संचालित रहा। 2 साल पहले डेट घोषित कर उसे खाली कर दिया गया। जिला प्रशासन ने पुरानी बिल्डिंग की रिपेयरिंग की बात कही थी। रिपेयरिंग नहीं होने से बिल्डिंग और भी ज्यादा खस्ताहाल हो रही है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!