जंगल से रिहायशी इलाके में आया लकड़बग्घा: मौके पर मौजूद लोगों ने भगाया, सूचना के बाद भी नहीं पहुंची वन विभाग टीम

Hindi NewsLocalMpSheopurThe People Present On The Spot Drove Away, Even After The Information, The Forest Department Team Did Not Reach

श्योपुर29 मिनट पहले

कॉपी लिंक

गुरुवार को शाम जंगल से एक हाइना (लकड़बग्घा) निकलकर रिहायशी इलाके में घुस आया। गनीमत यह रही कि समय रहते इस हाइना पर लोगों की नजर पड़ गई। इस वजह से लकड़बग्घा किसी को नुकसान नहीं पहुंचा सका। इसके बाद लोगों ने मिलकर इसको जंगल की ओर भगा दिया।

बच्चों को नुकसान पहुंचा सकता था लकड़बग्घा

मामला जिला मुख्यालय पर स्थित जिला जेल के ठीक सामने मोर डूंगरी नदी के ऊपर बने पुल का है। यहां जंगल से निकलकर एक लकड़बग्घा किसी तरह से आ गया। जिस समय लकड़बग्घा वहां पर पहुंचा, उस समय पुल के ऊपर 100 के करीब बच्चे, महिलाएं और पुरुष मौजूद थे। पुल के पास झोपडी बनाकर कुछ ग्रामीण भी रह रहे थे, जिन्हें यह लकड़बग्घा नुकसान पहुंचा सकता था।

यह खतरनाक शिकारी जानवरों में से एक होता है, जिसका जबड़ा बेहद मजबूत होता है। गनीमत यही रही कि लकड़बग्घा किसी को नुकसान पहुंचा पाता, उससे पहले लोगों की नजर उस पर पड़ गई। उन्होंने शोर मचा कर उसे खदेड़ना शुरू कर दिया। देखते ही देखते मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई।

मौके पर नहीं पहुंची वन विभाग की टीम

भीड़ में मौजूद कई लोग इतने लापरवाह हो गए कि लकड़बग्घे के बिल्कुल पास पहुंचकर मोबाइल फोन से उसके फोटो-वीडियो क्लिक करने लगे। बाद में यह हाइना पुल से उतरकर नदी की ओर चला गया। हैरान कर देने वाली बात यह रही कि लकड़बग्घा करीब आधा घंटे तक जिला जेल के सामने टहलता रहा, लेकिन वन विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंची।

इस बारे में कूनों वन मंडल के डीएफओ प्रकाश वर्मा का कहना है कि यह क्षेत्र सामान्य वन मंडल में आता है, फिर भी सूचना मिलती तो हम टीम भिजवा देते।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!