जानकारी मांगी: प्रदेश में चपरासी के 20 हजार रिक्त पदों को आउटसोर्स के जरिये भरने की तैयारी

भोपाल31 मिनट पहले

कॉपी लिंकएक लाख पदों पर भर्ती की कवायद, सभी विभागों से मांगी जानकारी

मप्र में रिक्त चल रहे चपरासियों के करीब 20 हजार पदों को राज्य सरकार आउटसोर्स से भरने की तैयारी कर रही है। ये सभी चतुर्थ श्रेणी के पद हैं, जिन्हें अभी कम से कम 15500 और अधिकतम 30 हजार रुपए तक वेतन मिलता है। सामान्य प्रशासन विभाग (जीएडी) ने इस संबंध में सभी विभागों को ताकीद कर दी है कि वे चतुर्थ श्रेणी के इन पदों को भरने का प्रयास न करें। इस समय एक लाख पदों पर भर्ती की कवायद चल रही है।

सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी विभागों से रिक्त पदों की जानकारी मांगी तो 52 विभागों से सवा लाख रिक्त पद मिल गए। राज्य सरकार चाहती है कि तत्काल इनकी भर्ती शुरू की जाए। जीएडी ने सभी विभागों से कहा है कि जिनके पास भी कुल स्ट्रेंथ की तुलना में रिक्त पद पांच फीसदी से कम हैं, वे तुरंत कर्मचारी चयन बोर्ड और मप्र लोक सेवा आयोग को वेकेंसी भेजकर भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ करें। जीएडी ने ऐसे विभागों की सूची बना ली है। जहां भी पांच प्रतिशत से ज्यादा पद हैं, वहां के बारे में निर्णय उच्च स्तर पर लिया जाएगा। संभावना है कि इन पदों को दो या तीन चरणों में भरा जाएगा। पहले चरण में पांच प्रतिशत तक पद भर दिए जाएंगे, बाकी बचे हुए पदों का निर्णय अलग से होगा।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!