रिटायर्ड DGP ने 10वीं के स्टूडेंट को डंडे मारे: गाड़ी-मोबाइल भी तोड़ा; हंगामा करने से रोका तो छात्र ने की गाली गलौज

भोपाल4 घंटे पहले

भोपाल में रिटायर्ड DGP मोहम्मद वजीर अंसारी पर 10वीं के स्टूडेंट को बेरहमी से पीटने का आरोप लगा है। बच्चे के परिवार को पता चलने पर दोनों पक्षों में विवाद हो गया। कोहेफिजा पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर काउंटर केस दर्ज किया है।

नवाब हमीदुल्ला कॉलोनी, खानू गांव का रहने वाला 15 साल का लड़का होली फैमिली स्कूल में 10वीं का छात्र है। उसने बताया कि शनिवार रात करीब साढ़े 12 बजे ईदगाह हिल्स में स्थित क्विंस अपार्टमेंट में रहने वाले दोस्त के घर बाइक से ट्रैक सूट लेने गया था। अपार्टमेंट के नीचे गेट पर दोस्त के आने का इंतजार कर रहा था। थोड़ी देर में दोस्त आ गया। हम बात कर रहे थे। इसी बीच एक अंकल (एमडब्ल्यू अंसारी) रिश्तेदार अली के साथ आए। वह मुझे और दोस्त को गाली देने लगे। मना किया तो वे बोले- रुक तेरे को बताता हूं।

इसके बाद वे घर के अंदर से प्लास्टिक का पाइप लेकर आए और दोनों को पीटना शुरू कर दिया। इससे मुझे हाथ, पैर, सिर व पीठ में चोट लगी है। दोस्त को भी दोनों हाथ व बाएं पैर में चोट लगी है। अपार्टमेंट के पास के लोगों ने आकर बीच-बचाव किया। इसके बाद अंसारी जान से मारने की धमकी देकर चले गए। इसके बाद मैंने माता-पिता को बुलाया। बाद में मुझे पता लगा कि वे MW अंसारी हैं, जो कि छत्तीसगढ़ के रिटायर्ड DGP हैं।

बच्चे के परिजन बोले- अंसारी को छोड़ने गई पुलिसबच्चे के परिजनों ने पुलिस पर भेदभाव करने का आरोप लगाया। उनका कहना है कि पहले तो पुलिस FIR दर्ज नहीं कर रही थी। रातभर जब बच्चे को लेकर थाने में बैठे रहे, तब जाकर रविवार सुबह केस दर्ज किया, जबकि अंसारी की FIR रात में ही दर्ज कर ली गई थी और पुलिस रात करीब साढ़े तीन बजे उन्हें घर तक छोड़ने भी गई थी।

पड़ोसी बोले- बच्चों ने भी किया गाली-गलौजअपार्टमेंट के पास रहने वाले फिरोज ने बताया कि बच्चों की बातचीत से अंसारी की नींद डिस्टर्ब हो रही थी। इस कारण वह गुस्से में आए और बेकाबू हो गए। बच्चे भी तेज आवाज में बात कर रहे थे। बच्चों ने भी अंसारी के साथ गाली-गलौज की थी। कोहेफिजा थाना प्रभारी विजय सिंह सिसौदिया ने बताया कि अंसारी की शिकायत पर बच्चे के माता-पिता समेत चार-पांच लोगों के खिलाफ मारपीट समेत अन्य धारा में केस दर्ज किया है।

रिटायर्ड डीजीपी अंसारी ने लड़के की बाइक में तोड़फोड़ कर दी। मोबाइल भी तोड़ दिया।

रिटायर्ड डीजीपी अंसारी ने लड़के की बाइक में तोड़फोड़ कर दी। मोबाइल भी तोड़ दिया।

बच्चे की रविवार को तबीयत बिगड़ीबच्चे के पिता ने बताया कि बच्चे को गंभीर चोट लगी है। वह बार-बार बेहोश हो जा रहा है। खड़े होने की कोशिश करता है, तो चक्कर खाकर गिर जाता है। लगातार उल्टियां हो रही हैं। बच्चे के पिता चाय की होटल चलाते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अंसारी ने बेटे को मारा और हमारे खिलाफ ही पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। पुलिस अंसारी व उनके बेटे को थाने में कुर्सी पर बैठाए रखी, जबकि हमें भगाती रही। जब हमारी पत्नी ने विरोध किया, तो पुलिस ने अभद्रता की। पिता ने बताया कि अंसारी ने बेटे के मोबाइल और गाड़ी में भी तोड़फोड़ की है। उन्होंने आरोप लगाया कि अंसारी के बेटे ने भी उससे मारपीट की है, लेकिन पुलिस ने उसका नाम FIR से हटा दिया।

स्टंट करने से रोका तो हंगामा करने लगेइधर, जब भास्कर ने अंसारी से उनका पक्ष जाना। तो उन्होंने बताया कि आधी रात को खानूगांव के बच्चे आकर अक्सर हमारी कॉलोनी में बाइक से स्टंट करते हैं। रात में उन्होंने मेरे बेटे को बाइक से टक्कर मार दी थी। जब इसका विरोध किया तो आरोपी बच्चे के परिजन और बाकी लोग जमा हो गए। उन्होंने मेरे साथ मारपीट की। हंगामा करने वालों में महिलाएं भी शामिल थीं।

छत्तीसगढ़ के पूर्व पुलिस महानिदेशक हैं अंसारी

रिटायर्ड डीजीपी MW अंसारी फिलहाल भोपाल के ईदगाह हिल्स में परिवार के साथ रहते हैं।

रिटायर्ड डीजीपी MW अंसारी फिलहाल भोपाल के ईदगाह हिल्स में परिवार के साथ रहते हैं।

अंसारी मध्यप्रदेश कैडर के 1984 बैच के IPS हैं। हैदराबाद से ट्रेनिंग के बाद उनकी पहली पोस्टिंग 1986 में सागर जिले में हुई। वर्ष 2000 में मध्यप्रदेश से अलग हुए छत्तीसगढ़ में DIG आर्म्ड फोर्स के पद पर पोस्टिंग मिली। वर्ष 2000 से छत्तीसगढ़ में पुलिस मुख्यालय के कई पदों पर रह चुके हैं। 31 दिसंबर 2017 को छत्तीसगढ़ DGP के पद से रिटायर हुए। वर्ष 2013-14 के बीच मौलाना आजाद एजुकेशनल फाउंडेशन, दिल्ली के सचिव के पद पर भी रहे हैं। फिलहाल भोपाल के ईदगाह हिल्स इलाके में परिवार के साथ रहते हैं।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!