गांधी चौपाल: महंगाई, बेरोजगारी और सांप्रदायिकता के खिलाफ कांग्रेस की गांधी चौपाल

सागर30 मिनट पहले

कॉपी लिंकदेश की जनता महंगाई, बेरोजगारी और नफरत से त्रस्त हो चुकी है और वह परिवर्तन चाहती है

महंगाई, बेरोजगार और सांप्रदायिकता के खिलाफ रविवार को कांग्रेस ने मोतीनगर चौराहे पर रविशंकर पार्क में गांधी चौपाल का आयोजन किया। गांधी जयंती दो अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक पूरे प्रदेश में कांग्रेस द्वारा गांधी चौपाल का आयोजन किया जा रहा है। इसी के तहत आयोजित चौपाल में महात्मा गांधी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर देश की एकता और समरसता के लिए भजन गाए गए। कार्यक्रम में शहर कांग्रेस प्रभारी अंजू बघेल ने बापू के बताए मार्ग पर चलने के लिए सभी कांग्रेसजन को प्रेरित किया। पूर्व मंत्री सुरेंद्र चौधरी ने कहा कि गोडसे के अनुयायियों को भी गांधीजी का महिमा मंडन करने की जरूरत पड़ने लगी है। इससे पता चलता है कि इस देश में गांधी का क्या महत्व है?

पूर्व विधायक सुनील जैन ने भारत जोड़ो यात्रा का महत्व समझाते हुए कहा कि ऐसी ऐतिहासिक यात्रा देश में स्वतंत्रता के बाद अभी तक नहीं निकाली गई। देश की जनता महंगाई, बेरोजगारी और नफरत से त्रस्त हो चुकी है और वह परिवर्तन चाहती है। मप्र कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और गांधी चौपाल के सागर शहर के नवनियुक्त प्रभारी अमित दुबे ने कहा कि गांधी कभी नहीं मरते, गांधी की विचारधारा पर चलकर ही देश आगे बढ़ेगा। चौपाल को जगदीश यादव, रमाकांत यादव ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन रामकुमार पचौरी और आभार संदीप सबलोक ने माना। गांधी चौपाल के आयोजन में शहर सेवादल सिंटू कटारे ने सभी को गांधी टोपी पहनाकर और सूत की माला से सम्मानित किया। इस दौरान मुकुल पुरोहित, निधि जैन, सुरेंद्र सुहाने, चक्रेश सिंघई, आशीष ज्योतिषी, प्रदीप कुमार गुप्ता, जितेन्द्र सिंह चावला, महेश जाटव, जितेन्द्र रोहण और अंकलेश्वर दुबे सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!