चयनित अभ्यर्थियों का लोकशिक्षण के सामने प्रदर्शन: MP में भर्ती पदों से 13% का होल्ड हटाने के लिए मां के साथ मासूम ने नारे लगाए


Hindi NewsLocalMpBhopalInnocent Along With Mother Raised Slogans To Remove Hold Of 13% From Recruitment Posts In MP

भोपाल9 मिनट पहले

उच्च माध्यमिक शिक्षकों की भर्ती के चयनित अभ्यर्थी लोक शिक्षण संचालनालय के सामने थरना देने पहुंचे। थरना-प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों में एक मासूम बच्ची भी नारे लगाते नजर आई। एक महिला अपनी बच्ची के साथ प्रदर्शन में शामिल थी। अभ्यर्थियों ने बताया कि 2018 ओबीसी संस्कृत एवम समस्त ओबीसी के चयनित अभ्यर्थी 8 मार्च से निरंतर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। उसके बाद भी प्रथम काउंसिलिंग पूर्ण नहीं की गई और दूसरी काउंसिलिंग प्रारंभ कर दी।

इसमें संस्कृत विषय को बाहर कर दिया गया है। नाम मात्र 81 पोस्ट दी है। जिसमें से 13% दोबारा होल्ड कर दिया जाएगा। इसमें से अभी ढाई सौ लोग चयनित और प्रतीक्षारत अभ्यर्थी बैठे है। संस्कृत विषय के साथ निरंतर अन्याय हो रहा है। जबकि मामा शिवराज सिंह चौहान खुले मंच से ये घोषणा करते हैं कि संस्कृत के ज्यादा से ज्यादा खाली पदों को भरा जाएगा। इसके उलट जो नये पद निकाले गए हैं, उसमें संस्कृत विषय के अभ्यर्थी भर्ती से बाहर हो रहे है। आयुक्त अभय वर्मा से सभी अभ्यर्थियों ने निवेदन किया कि हमें भी द्वितीय काउंसिलिंग में समाहित किया जाए, नहीं तो हम निरंतर धरना प्रदर्शन करेंगे।

संस्कृत विषय में 227 पदों को द्वितीय चरण में शामिल करने

स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रथम चरण की भर्ती में उच्च माध्यमिक शिक्षक, संस्कृत विषय के ओबीसी वर्ग के 465 पदों में से 238 पद पर नियुक्ति पत्र जारी किए गए। 227 पदों को होल्ड कर दिए गए थे। पहले चरण में 1823 में से 465 पदों पर ओबीसी के पद निकाले। इसमें से 238 पर नियुक्ति दी और 227 पद होल्ड कर दिए।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!