पुजारी ने मोटे महावीर मंदिर में दफनाया मां का शव: लोगों ने कलेक्टर और थाने में की शिकायत, बोले- ये हिंदू रीति-रिवाज के खिलाफ

छतरपुर2 मिनट पहले

छतरपुर के प्रसिद्ध मोटे के महावीर मंदिर परिसर में महिला के शव दफनाने का मामला गहराता जा रहा है। मंदिर समिति के लोगों ने कलेक्टर और कोतावाली थाने में शिकायत दर्ज कराई है। समिति के कार्यकर्ताओं का कहना है कि शव कब्र से बाहर निकालें और पोस्टमॉर्टम कर उसका अंतिम संस्कार कराया जाए।

शहर स्थित मंदिर के आसपास रह रहे लोगों ने इस पर आपत्ति जताई है। मंदिर के सचिव आनंद शर्मा का कहना है कि संत शरीर बाबा आश्रम के परिसर में मंदिर के पुजारी की मां भगवती देवी लोहिया की 13 अक्टूबर को मृत्यु हो गई थी। उन्हें हिंदू संस्कृति के मुताबिक अग्नि देकर अंतिम संस्कार कर आना चाहिए था, लेकिन उन्होंने मां के शव को इसी परिसर में दफना दिया। उन्होंने कब्र बनाकर उस पर अपनी मां की तस्वीर रखकर पूजा शुरू करना कर दिया था। आने वाले समय में वहां मूर्ति स्थापित करने वाले थे। लोगों का कहना है कि यह हिंदू संस्कृति के खिलाफ है।

शहरवासियों का आरोप है कि मंदिर परिसर में शव को दफनाकर उसे कब्रिस्तान बना दिया गया है। ये धर्म और नीति के खिलाफ है। इससे लोगों की आस्था को ठोस पहुंची है। तत्काल शव को बाहर निकाल कर अंत्येष्टि कराना चाहिए।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!