विदिशा में बाल विवाह रोकने बुलाई प्रेस वार्ता: बाल विवाह मुक्त भारत के बारे में दी जानकारी, लोगों को किया जागरुक

विदिशा5 घंटे पहले

पूरे देश में बाल विवाह के विरोध में कई सामाजिक संगठन एक साथ आगे आए हैं वही नोबेल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी के नेतृत्व में “बाल विवाह मुक्त भारत” अभियान शुरू किया है। इस अभियान को लेकर विदिशा में कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन के सदस्यों उमेश शर्मा और एडवोकेट आयुष गोयल ने एक प्रेस वार्ता करते हुए बाल विवाह को रोकने के लिए चलाए जा रहे अभियान के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस अभियान के तहत देशभर के 26 राज्यों में 500 से अधिक जिलों में जागरुकता कार्यक्रम चलाया गया।

इसके तहत दीये जलाकर और कैंडल मार्च निकाल कर लोगों को जागरुक किया गया। सरकार ने बाल विवाह रोकने के लिए भले ही कानून बना दिए हो लेकिन आज भी बड़ी संख्या में बाल विवाह हो रहे हैं । बाल विवाह रोकने के लिए शासन के द्वारा चलाए जा रहे अभियान की जानकारी निचले स्तर तक पहुंच ही नहीं पाती जिसके कारण आज भी बाल विवाह हो रहे है। ऐसे में सरकार के साथ मिलकर बाल विवाह रुकने का काम बचपन बचाओ आंदोलन के सदस्य करेंगे। बाल विवाह को रोकने के लिए गांव-गांव लोगों को जागरूक किया जाएगा और बाल विवाह के दुष्परिणामों के बारे में लोगों को बताया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!