चार दिनी खंडवा बचाओ पदयात्रा: पार्टी को मजबूत करने का मिला था जिम्मा, खंडवा विस में अपने लिए जमीन तलाशी तो संगठन नाराज

Hindi NewsLocalMpKhandwaThe Responsibility Of Strengthening The Party Was Given, The Organization Was Angry When It Searched The Land For Itself In Khandwa Vis.

खंडवाएक घंटा पहले

कॉपी लिंक

यूथ कांग्रेस की प्रदेश महासचिव मोनिका मंडरे की मंगलवार से शुरू हुई चार दिनी खंडवा बचाओ पदयात्रा अपनों के कारण पहले ही दिन विवादों में घिर गई है। पदाधिकारियों से बगैर सूचना के निकाली जा रही यात्रा से कांग्रेस के स्थानीय नेता नाराज हो गए हैं। स्थानीय नेताओं ने इसकी शिकायत प्रदेश संगठन से मौखिक रूप से कर दी है। पिछले विस चुनाव में खंडवा विस से कांग्रेस प्रत्याशी रहे कुंदन मालवीय ने मोनिका मंडरे की इस यात्रा को लेकर को युकां प्रदेशाध्यक्ष विक्रांत भूरिया से शिकायत करने की बात कही है।

प्रदेश महासचिव को खंडवा में युकां को मजबूत करने के लिए प्रभारी बनाया था। दो महीने पहले ही मंडरे ने जिले का प्रभारी पद को छोड़ दिया। मंडरे की पदयात्रा को आगामी विधानसभा चुनाव-2023 में खंडवा विस से कांग्रेस से टिकट की दावेदारी से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं खंडवा विस के युकां जिलाध्यक्ष शहजाद पवार ने कहा कि पदयात्रा के संबंध में किसी ने मुझसे कोई बात नहीं की।

इधर, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष की नियुक्ति पर भी कांग्रेस में फूटइधर, प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने निगम में मुल्लू राठौर को नेता प्रतिपक्ष घोषित किया तो पार्टी में फूट पड़ गई। राठौर को नेता प्रतिपक्ष बनाए जाने के खिलाफ कांग्रेस की महापौर प्रत्याशी रही आशा मिश्रा के होटल में असंतुष्ट पार्टी नेताओं की बैठक मंगलवार को हुई। इसमें निगम नेता पक्ष की प्रक्रिया में पुनर्विचार के लिए वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने जिले के प्रभारी कैलाश कुंडल से फोन चर्चा कर तत्काल प्रभाव से आवश्यक कार्यवाही करने की बात की। कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से समय लेकर नेता प्रतिपक्ष को बदलने के लिए मिलेगा।

बैठक में मुनीश मिश्रा, वीरेंद्र मिश्रा, सलीम पटेल, शांतनु दीक्षित, रियाज हुसैन, कुंदन मालवीय, अवधेश सिसोदिया शेख शब्बीर, अजिम हाशिम, अहमद पटेल, अजीज मदनी, मेहमूद खान जाफर, लव जोशी, अनवर खान, इमरान पटेल, सैयद असलम, आलोकसिंह रावत, अमित मिश्रा, यशवंत सिलावट, फारुख , मोहसिन खान, अलीम खान सहित अन्य नेता उपस्थित रहे ।

संगठन की जानकारी के बिना पदयात्रा अनुशासनहीनतायह खंडवा बचाओ यात्रा का स्वयंभू नेतृत्व करने वाली नेत्री को प्रदेश कांग्रेस, युवा कांग्रेस और जिला कांग्रेस में से किसी ने भी किसी प्रकार की यात्रा निकालने के लिए निर्देश नहीं दिया है। संगठन की जानकारी के बिना की जा रही यात्रा अनुशासनहीनता के दायरे में आती है। इसकी शिकायत युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष से की जाएगी। -कुंदन मालवीय, सचिव, प्रदेश कांग्रेस कमेटी

पदाधिकारियों से पदयात्रा के लिए नहीं की बातखंडवा को भाजपा की जनविरोधी नीतियों से बचाने के लिए पदयात्रा निकाली है। जिसे लोगों का समर्थन मिल रहा है। पदयात्रा को लेकर मेरी जिला अध्यक्ष या संगठन के किसी पदाधिकारी से कोई बात नहीं हुई। मैंने खंडवा के प्रभारी का पद पहले ही छोड़ दिया था। शिकायत के संबंध में प्रदेश अध्यक्ष से अभी तक कोई दिशा निर्देश नहीं मिले हैं। -मोनिका मंडरे, प्रदेश महासचिव, युवक कांग्रेस

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!