दमोह में सब इंस्पेक्टर पर अभद्रता का आरोप: एफआईआर कराने पहुंचे थे मानव अधिकार सुरक्षा संगठन के मीडिया प्रभारी, एसपी को सौंपा ज्ञापन।


Hindi NewsLocalMpDamohMedia In charge Of Human Rights Protection Organization Had Come To Get The FIR, Memorandum Submitted To The SP.

दमोह3 मिनट पहले

दमोह में मानव अधिकार सुरक्षा संगठन के मीडिया प्रभारी ने बुधवार दोपहर दमोह एसपी को ज्ञापन देकर कोतवाली में पदस्थ सब इंस्पेक्टर दशरथ दुबे पर एफआईआर न लिखने और अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए ज्ञापन सौंपा। संगठन के सदस्यों ने संबंधित सब इंस्पेक्टर पर कार्रवाई की मांग की है।

मानव अधिकार सुरक्षा संगठन के मुकेश तिवारी ने बताया कि उनकी बाइक में अचानक आग लग गई थी। जिसके बाद वह एफआईआर कराने कोतवाली पहुंचे थे। ड्यूटी पर तैनात सब इंस्पेक्टर दुबे ने मुझसे कहा कि मेरा तीसरा नंबर है। मैं जाकर बैठ गया। कुछ देर बाद मैंने सब इंस्पेक्टर से जाकर पूछा कि एफआईआर के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है, आप बता दीजिए मैं लेकर आ जाऊंगा। इस बात पर अभद्रता करते हुए सब इंस्पेक्टर दुबे ने मुझसे कहा कि अब आपको शपथ पत्र देना होगा। इसके अलावा मैं मौके पर जाकर बाइक की जांच करूंगा कहीं आपने खुद ही तो बाइक में आग नहीं लगा दी? इसके बाद ही एफआईआर होगी। मुकेश तिवारी ने अपने संगठन के सदस्यों के साथ एसपी डीआर तेनीवार को ज्ञापन दिया है और। उन्होंने कार्रवाई की मांग की है। एसपी ने इस मामले में जांच कराकर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

सब इंस्पेक्टर बोले, आरोप झूठा है

सब इंस्पेक्टर दुबे का कहना है कि मुकेश तिवारी अपनी बाइक में आग लगने की एफआईआर दर्ज कराने आए थे। उनसे कहा था कि आवेदन लिखकर दे दो। इसके बाद उनके आगजनी की शिकायत दर्ज की। उनसे कोई अभद्रता नहीं की है। जिस समय उनकी बातचीत हो रही थी। मुकेश तिवारी मोबाइल से वीडियो रिकॉर्डिंग कर रहे थे, जिसमें यह बात स्पष्ट हो सकती है कि मैंने कोई अभद्रता नहीं की है।

खबरें और भी हैं…

error: Content is protected !!